Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

परिजनों के सामने कुलभूषण जाधव ने खुद को माना भारतीय जासूस: पाक मीडिया

पाकिस्तान की जेल में कथित रूप से जासूसी के मामले में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर पाक मीडिया प्रचार प्रसार ''प्रोपेगैंडा'' पर उतर आई है।

परिजनों के सामने कुलभूषण जाधव ने खुद को माना भारतीय जासूस: पाक  मीडिया
X

पाकिस्तान की जेल में कथित रूप से जासूसी के मामले में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर पाक मीडिया प्रचार प्रसार 'प्रोपेगैंडा' पर उतर आई है। कुलभूषण जाधव की मां अवंति और पत्नी चेतना जाधव से मुलाकात पर पाकिस्तान ने दुष्‍प्रचार शुरू कर दिया गया है।

आपको बता दें कि जाधव द्वारा कथित तौर पर मां अवंति और पत्‍नी चेतना के समक्ष खुद को भारतीय जासूस और आतंकी गतिविधियों में लिप्‍त होने की बात मानने से जुड़ी रिपोर्ट पाकिस्तान की मीडिया ने प्रकाशित की है।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी: मोदी सरकार का नए साल पर बड़ा तोहफा, एक लीटर पेट्रोल मिलेगा सिर्फ 45 रुपये में!

पाकिस्तान ने जाधव को मां और पत्नी से मिलने की स्‍वीकृति

पाकिस्‍तान ने जाधव को मां और पत्‍नी से मिलने की स्‍वीकृति दी थी। बीते सोमवार को पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी से मुलाकत कराई थी। लेकिन मुलाकत पर पाकिस्तान ने उनके बीच शीशे की दीवार खड़ी की थी। भारत ने पाक के इस रवैये को लेकर कड़ी निंदा की है।

पाकिस्तान मीडिया की रिपोर्ट

पाकिस्‍तानी अखबार ‘ट्रिब्‍यून’ने पाकिस्‍तानी अखबार ‘ट्रिब्‍यून’ ने को लेकर रिपोर्ट दी है। जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि जासूसी के मामले में दोषी करार जाधव ने अपने परिवार के समक्ष आतंकी गतिविधियों में संलिप्‍त होने की बात स्‍वीकार की है।

यह भी पढ़ें- New Year 2018: इस वजह से रसोई गैस सिलेंडर के अब हर महीने नहीं बढ़ेंगे दाम!

दुष्‍प्रचार की इंतहा तो तब हो गई जब पाकिस्‍तानी अखबार के ऑनलाइन संस्‍करण में भारतीय मीडिया का हवाला दिया गया। साथ ही कहा है कि जाधव की मां और पत्नी को ऐसी प्रतिक्रिया की बिल्‍कुल उम्‍मीद नहीं थीं।

अतंरराष्ट्रीय कोर्ट में चल रहा है मामला

गौरतलब है कि जाधव को पाकिस्तान ने पिछले साल मार्च में गिरफ्तार किया था। इस साल अप्रैल में 47 वर्षीय जाधव को पाक की सैन्य अदालत ने जासूसी के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी।

जबकि उसे न तो अपना पक्ष रखने और न ही भारतीय राजनयिक से मिलने की इजाजत दी गई थी। इसके खिलाफ भारत ने अंतरराष्ट्रीय अदालत का रुख किया। अंतरराष्ट्रीय अदालत ने सजा के अमल पर अंतरिम रोक लगा दी है।

भारत के काफी प्रयासों के बाद पाकिस्‍तान ने उनकी मां और पत्‍नी को मिलने की इजाजत दी थी। लेकिन, उसके तौर-तरीकों की कड़ी आलोचना की जा रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story