logo
Breaking

कश्मीर से बातचीत के फैसले बाद पाक बना रहा है रणनीति

अरुण जेटली ने कहा कि मैं ने खुद तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह को कश्मीर को लेकर खत लिखा था।

कश्मीर से बातचीत के फैसले बाद पाक बना रहा है रणनीति

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को एक इंटरव्यू के दौरान पाकिस्तान पर निशाना साधा है। जेटली ने कहा कि पाकिस्तान को भारत के साथ बातचीत के लिए सही माहौल तैयार करना होगा।

एक दिन बाद ही केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर में बातचीत के लिए दिनेश्वर शर्मा को नियुक्त किया था। जेटली ने एएनआई से कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ बातचीत के लिए शांति का माहौल बनाने वाला है। ये निर्णय कश्मीर के लोगों ने नहीं लिया है।

यूपीए सरकार के शासन काल पर निशान साधते हुए जेटली ने कहा कि कश्मीर लिए कोई नीति नहीं बनाई थी। सिर्फ वहां अशांति ही फैसली।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार की नीति कश्मीर घाटी के लिए कुछ नहीं किया था। बस उसके लिए बैंड सहारा सहायता जैसे योजना बना दी थी। यूपीए सरकार के समय कश्मीर में कोई नीति नहीं थी।

यूपीए शासन में कई संगठन शांति और चोरी छुपे बातचीत कर रहे थे। जोकि बाहरी संगठन थे। मैं खुद एक ऐसे संगठन का सदस्य था जो ना तो कोई बैठक करता था और ना ही कोई रिपोर्ट देता था।

उन्होंने इंटरव्यू के दौरान कहा कि मैं उस वक्त के पीएम मनमोहन सिंह को खत लिखकर इस बात की जानकारी दी थी।

जेटली ने कहा कि बीते दिन सालों से कुछ संगठन दिखने लगे हैं। कई मामले तो टैरर फंडिंग से जुड़े है। अब भी ऐसे ग्रुप चल रहे हैं। लेकिन अब स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस में प्रशासन के नियंत्रण में है।

बीते दिन सालों में अलगाववादी नेताओं को लेकर फंडिंग का मामला सामने आ चुका है। सुरक्षा एजेंसियों ने कश्मीर में टेरर फंडिंग से चल रहे कई संगठनों का खुलासा किया है। जिसमें हुर्रियत के कई नेता शामिल हैं।

Loading...
Share it
Top