Top

मदद रुकने से घबराया पाकिस्तान, लश्कर ए तैयबा, जमात उद दावा जैसे आतंकी संगठनों पर लगाया बैन

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jan 5 2018 2:17PM IST
मदद रुकने से घबराया पाकिस्तान, लश्कर ए तैयबा, जमात उद दावा जैसे आतंकी संगठनों पर लगाया बैन

आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा और जमात उद दावा के सरगना हाफिज सईद पर पाकिस्तान सरकार ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान ये शिकंजा हाफिज पर अपनी मर्जी से नहीं, बल्कि अमेरिका द्वारा फंडिंग रोकने के वजह से कर रहा है।

पाकिस्तान सरकार ने मुंबई में हुए हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर सीधी कार्रवाई करने के बजाए उससे जुड़े चैरिटी संगठनों और उनके वित्तीय संसाधनों पर प्रतिबंध लगाया है।

सिक्योरिटीज़ एंड एक्सचेंज कमीशन ऑफ पाकिस्तान ने हाफ़िज सईद से जुड़े तीन संगठनों जमात उद दावा, लश्कर ए तैयबा और फ़लाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन पर पाबंदी लगा दी है।

इसे भी पढ़ेंः अमेरिका ने पाकिस्तान का बंद किया हुक्का-पानी, रोकी 255 मिलियन डॉलर आर्थिक मदद

ये कार्रवाई उसी दिन की गई है जिस दिन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को जमकर फटकार लगाई है और उसको दी जा रही है मदद रोकने की बात की है।

ट्रंप ने पाकिस्तान को लगाई फटकार

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ' पाकिस्तान हमारे नेताओं को मूर्ख समझता है। वह आतंकियों को पनाह देता है'। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि 33 अरब डॉलर की मदद अमेरिका की बेवकूफी है, क्योंकि पाकिस्तान ने बदले में झूठ और धोखा ही दिया। अब और नहीं।

ट्रंप ने कहा कि अमेरिका की तरफ से पाकिस्तान को अब कोई मदद नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि जिन आतंकवादियों को हम अफगानिस्तान में तलाश हे हैं, उन्हें पाकिस्तान अपने यहां पनाह दे रखा है।


फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स इशूज

19 दिसंबर को 'फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स इशूज' नाम से जारी दस्तावेज में सईद के दो चैरिटी संगठनों के नाम शामिल हैं। फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है, जो मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी फंडिंग के खिलाफ काम करती है। इस संस्था की ओर से कई बार आतंकी संस्थाओं की फाइनैंशल व्यवस्था को खत्म करने की सलाह पाकिस्तान को दी जा चुकी है। 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo