Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाकिस्तान ने भारत के 40 से ज्यादा गांवों को बनाया निशाना, 52 मोर्टार-82 एमएम से किया हमला

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के पास सीमा चौकियों और नागरिक इलाकों को निशाना बना कर भारी गोलाबारी की जिसमें दो नागरिकों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए।

पाकिस्तान ने भारत के 40 से ज्यादा गांवों को बनाया निशाना, 52 मोर्टार-82 एमएम से किया हमला

पाकिस्तानी सेना ने आज दूसरे दिन भी सांबा, अरनिया, रामगढ़ जिले में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के पास सीमा चौकियों और नागरिक इलाकों को निशाना बना कर भारी गोलाबारी की जिसमें दो नागरिकों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए। बीएसएफ के जवानों ने भी प्रभावी तरीके से जवाबी कार्रवाई की।

बीएसएफ के एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजरों ने सुबह 6ः40 बजे से भारत-पाकिस्तान सीमा के पास आर एस पुरा, अरनिया और रामगढ़ सेक्टर में कई इलाकों में भारी गोलीबारी और गोलाबारी की।
उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी बलों ने इन तीनों सेक्टर में 82 एमएम और 52 मोर्टार बम, स्वचालित व छोटे हथियारों का इस्तेमाल करते हुए करीब 40 सीमा चौकियों को निशाना बनाया। अधिकारी ने बताया कि अंतिम रिपोर्ट आने तक दोनों तरफ से गोलीबारी जारी थी।
साथ ही उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी बलों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के 35 किलोमीटर क्षेत्र में आने वाली सीमा चौकियों और गांवों को निशाना बनाया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने अब तक अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे अरनिया, आरएस पुरा और रामगढ़ सेक्टर के 40 से ज्यादा गांवों को निशाना बनाया है।

स्कूल हुए बंद

उन्होंने बताया कि एक महिला समेत दो नागरिकों की इस हमले में मौत हो गई जबकि तीन अन्य नागरिक घायल हो गए। गोलाबारी में मारी गई महिला साई खुर्द की निवासी थी जबिक दूसरा व्यक्ति आर एस पुरा-अरनिया पट्टी के कोरोटोना में मारा गया। साई खुर्द गांव का एक व्यक्ति और रामगढ़ के दो लोग इसमें घायल हो गए। भारी गोलाबारी को देखते हुए सीमा के पास रहने वाले करीब एक हजार लोगों ने इलाका छोड़़ दिया है और यहां स्थित स्कूलों को बंद कर दिया गया है।

कल भी किया था सीजफायर का उल्लंघन

कल पाकिस्तानी रेंजरों द्वारा सीजफायर का उल्लंघन किए जाने और जम्मू और सांबा जिले के तीन सेक्टरों के गांवों और सीमा चौकियों पर भारी गोलाबारी किए जाने की घटना में 17 साल की एक लड़की की मौत हो गई और बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया जबकि छह लोग घायल हो गए थे।
बीएसएफ के महानिदेशक के के शर्मा, सुरेश को श्रद्धांजलि देने कल जम्मू आए थे और उन्होंने फील्ड कमांडरों को पूरी ताकत के साथ जवाब देने और पाकिस्तान बलों को सबक सिखाने के निर्देश दिए थे। उन्होंने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के पास स्थिति तनावपूर्ण है।
Share it
Top