Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इंसाफ: पाकिस्तान में जैनब के दोषी को मौत की सजा, दो महीने के भीतर आया फैसला

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के कसूर शहर में हुए सात साल की लड़की के बलात्कार एवं हत्या के बहुचर्चित मामले में लाहौर स्थित आंतकवाद निरोधक अदालत ने शनिवार को दोषी इमरान अली को फांसी की सजा सुनाई है।

इंसाफ: पाकिस्तान में जैनब के दोषी को मौत की सजा, दो महीने के भीतर आया फैसला

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के कसूर शहर में हुए सात साल की लड़की के बलात्कार एवं हत्या के बहुचर्चित मामले में लाहौर स्थित आंतकवाद निरोधक अदालत ने शनिवार को दोषी इमरान अली को फांसी की सजा सुनाई है।

आपको बता दें कि यह मामला सामने आने के बाद दो महीने के भीतर लाहौर स्थित कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक दोषी इमरान अली को फांसी की सजा के अलावा 25 साल जेल की सजा के साथ 10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

जैनब पांच जनवरी को हुई थी लापता

आपको बता दें कि सात वर्षीय जैनब पांच जनवरी को लापता हो गई थी। जैनब के माता-पिता उमरा करने के लिए सऊदी अरब गए हुए थे और वह अपनी एक रिश्तेदार के साथ रह रही थी।

लापता होने के बाद जैनब सीसीटीवी फुटेज में पीरोवाला रोड के पास एक अजनबी के साथ नजर आई थी। इसके बाद 9 जनवरी को शाहबाज खान रोड के पास कचरे के एक ढेर से जैनब शव बरामद किया गया।

यह भी पढ़ें- चीन के साथ हमारे अच्छे संबंध, नहीं झुकने दिया जाएगा देश का सिर: राजनाथ सिंह

बता दें कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि हुई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार फरेंसिक एजेंसियों ने संदिग्धों के 1,000 सैंपल और 150 डीएनए की जांच की तब जाकर दुष्कर्म करने वाले की पहचान हो पाई।

दोषी इमरान अली जैनब का ही पड़ोसी है। इमरान अली ने ही सात वर्षीय मासूम जैनब का बलात्कार करके उसकी बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी इमरान अली को पुलिस ने 23 जनवरी को गिरफ्तार किया था। जैनब के घर से इमरान अली के संबंध अच्छे थे वह अक्सर उनके घर पर जाया करता था।

पाकिस्तान में जमकर हुआ था विरोध प्रर्दशन

पाकिस्तान को झकझोर कर देने वाली इस घटना को लेकर जबरदस्त विरोध-प्रदर्शन हुए थे। पंजाब प्रांत में तो इस मामले में पुलिस की निष्क्रियता के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हुए थे।

यह भी पढ़ें- नीतीश कुमार ने उठाया महिला आरक्षण का मुद्दा

विरोध-प्रदर्शन करने वाले लोगों ने कसूर शहर के उपायुक्त कार्यालय पर डंडों और पत्थरों के साथ धावा बोल दिया, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी।

Next Story
Top