Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारतीय जासूस पर सरताज अजीज का बयान ''बिल्कुल गलत'': पाकिस्तान

जासूस के मसले पर सरताज को पाकिस्तान ने ही कहा ''गलत''

भारतीय जासूस पर सरताज अजीज का बयान
नई दिल्ली. पाकिस्तान ने बुधवार शाम को एक बयान जारी कर कथित भारतीय जासूस को लेकर दिए गए सरजाज अजीज के बयान को 'बिल्कुल गलत' बताया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने बुधवार को स्वीकार किया था कि कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को लेकर सरकार को 'अपर्याप्त सबूत' सौंपे गये हैं। उन्होंने कहा था कि इस मामले में अभी और सबूतों की जरूरत है।
डोजियर में सिर्फ इकबालिया बयान शामिल
सेनेट के समक्ष अजीज ने कहा कि जाधव से जुड़े डोजियर में सिर्फ इकबालिया बयान शामिल है। न्यूज चैनल जियो टीवी के मुताबिक उन्होंने कहा कि सरकार के पास कोई निर्णायक सबूत नहीं है। उन्होंने कहा, 'डोजियर में जो बाते हैं वे पर्याप्त नहीं हैं। अब यह संबंधित अधिकारियों पर है कि वे इस एजेंट को लेकर ज्यादा सबूत मुहैया कराएं।'
पाकिस्तान के अंदर 'विध्वंसक गतिविधियों' की योजना
पाकिस्तानी एजेंसियों का दावा है कि ईरान से पाकिस्तान में दाखिल होने वाले जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया और वह पाकिस्तान के अंदर 'विध्वंसक गतिविधियों' की योजना बना रहा था।
बयान वाला विडियो जारी कर दावा किया था
वहीं पाकिस्तानी सेना ने भी जाधव के इकबालिया बयान वाला विडियो जारी कर दावा किया था कि जाधव भारतीय नौसेना से जुड़ा हुआ है। भारत ने स्वीकार किया है कि जाधव भारतीय नौसेना से सेवानिवृत्त है, लेकिन इस आरोप से इनकार किया है कि वह सरकार के संपर्क में था।

जा‌धव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था
ज्ञात हो कि मार्च में जा‌धव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद भारत ने उसी वक्त कह दिया था कि जाधव एक बिजनेसमैन है और ईरान में कारोबार करता है। किन्तु उसके बाद भी पाकिस्तान आर्मी ने मार्च के आखिर में जाधव के कथित कबूलनामे का वीडियो भी जारी किया था। इसमें उसने माना था कि वह बलूचिस्तान में टेररिस्ट एक्टिविटी में शामिल था।
भारत ने वीडियो को खारिज कर दिया था
भारत ने इस वीडियो को खारिज कर दिया था, वही भारत ने शक जताया था कि जाधव को ईरान से किडनैप गया है। पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव के बारे में कहा था कि वह बलूचिस्तान में टेररिस्ट एक्टिविटी में शामिल था। वही वह इंडियन नेवी का सर्विंग अफसर है। किन्तु भारत ने इन सब आरोपो को खारिच कर दिया था।
भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि वीडियो में जाधव जो भी बातें कह रहा है, वह आधारहीन हैं। मंत्रालय का कहना था कि जाधव जो बातें कह रहा है, वह उसे सिखाई गई हैं।
भारतीय नागरिक को प्रताडि़त किया जा रहा
मंत्रालय ने साथ ही कहा था, हमारी जांच से पता चला है कि भारतीय नागरिक को प्रताडि़त किया जा रहा है जो ईरान में कानूनी तरीके से अपना कारोबार चला रहा था। हम उसके अपहरण की संभावना से इनकार नहीं कर सकते। पाकिस्तान का यह आरोप बेबुनियाद है कि ये व्यक्ति भारत सरकार के कहने पर जासूसी में शामिल था। मंत्रालय ने अपने बयान में पाकिस्तान से मांग की थी कि वो भारतीय अधिकारियों को गिरफ्तार व्यक्ति से मिलने दे। तभी सही जानकारी सामने आएगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top