Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

1971 से भी बुरे हाल भुगतने को तैयार रहे पाक

बलोच रिपब्लिक पार्टी के अध्यक्ष ब्रहमदाग बुगाती ने दी पाकिस्तान की सेना को चेतावनी

1971 से भी बुरे हाल भुगतने को तैयार रहे पाक
नई दिल्ली. बलोच रिपब्लिकन पार्टी के अध्यक्ष ब्रहमदाग खान बुगती ने दो टूक कहा है पाकिस्तान से किसी भी बातचीत से पहले पाकिस्तानी सेना को बलूचिस्तान को छोड़ना होगा। बुगती ने चेतावनी दी कि पाकिस्तानी सेना ने ऐसा नहीं किया तो उसे 1971 से भी ज्यादा बुरे नतीजे भुगतने पड़ेंगे। बुगती ने बलूचिस्तान के लोगों पर पाकिस्तान के अत्याचारों का मुद्दा उठाने के लिए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया जताया है।
उन्होंने यह भी कहा कि इस्लामाबाद में बैठे पाकिस्तानी अधिकारियों का मंसूबा बलूच लोगों को पूरी तरह खत्म करने का है। बुगती ने इस मुद्दे को नहीं उठाने के लिए पाकिस्तानी मीडिया को भी जमकर लताड़ लगाई। बुगती ने एक वीडियो संदेश में कहा, पाकिस्तानी सरकार और मीडिया की जिस तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं, वो हैरान करने वाली नहीं बल्कि ओछी हैं। पाकिस्तान सरकार, सेना और मीडिया की रणनीति बलोच लोगों को खत्म करने की है। इसके सबूत बार बार देखने को मिलते रहे हैं। बुगती ने पाकिस्तानी मीडिया को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वो बलूचिस्तान की बहुत मुश्किल से कोई खबर दिखाता है, लेकिन जहां तक पाकिस्तान का सवाल है तो छोटी से छोटी घटना को भी बढ़ा-चढ़ा कर दिखाया जाता है।
पाकिस्तान कभी हमारा देश नहीं रहा
बुगती ने कहा, ये बलूच लोगों की भूल थी कि उन्होंने पिछले 50 साल से समानता के अधिकार के साथ पाकिस्तान का हिस्सा बनने की कोशिश की। अब हमने फैसला किया है कि हम पाकिस्तान के साथ जबरदस्ती नहीं रह सकते। पाकिस्तान हमारा कभी देश नहीं रहा और न ही कभी होगा। हमें दबाव देकर पाकिस्तान के साथ रहने के लिए मजबूर किया गया। मुझे गद्दार कहा जाता है। इस पर मेरा कहना है कि जब मैं पाकिस्तानी नागरिक ही नहीं हूं तो गद्दार कैसे हो सकता हूं।
एफआईआर पुलिस की बेवकूफी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा के लिए अपने खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने पर बुगती ने कहा, पाकिस्तान ने ऐसा करके मूर्खतापूर्ण काम किया। हमारा पाकिस्तान के साथ कोई रिश्ता नहीं है। पाकिस्तानी अधिकारी इस बलूच नेता ने कहा कि उन्होंने मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। मैं कहता हूं कि एक ही क्यों 500 एफआईआर दर्ज करो। ऐसी एफआईआर मेरा बाल बांका नहीं कर सकतीं। बुगती ने बलोच लोगों का मुद्दा उठाने के लिए अफगानिस्तान और बांग्लादेश का भी शुक्रिया जताया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top