logo
Breaking

इमरान खान की ''गुगली'' से बाध्य हुआ करतारपुर कॉरिडोर के लिए भेजने पड़े दो मंत्रीः कुरैशी

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने दावा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर की गुगली फेंक दी है और उस गुगली का नतीजा क्या हुआ कि जो हिंदुस्तान मिलने से कतरा रहा था उसे दो मंत्रियों को भेजना पड़ा। वे पाकिस्तान (Pakistan) आए।

इमरान खान की

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने दावा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर की गुगली फेंक दी है और उस गुगली का नतीजा क्या हुआ कि जो हिंदुस्तान मिलने से कतरा रहा था उसे दो मंत्रियों को भेजना पड़ा। वे पाकिस्तान (Pakistan) आए।

कुरैशी इस्लामाबाद में इमरान खान सरकार सौ दिन पूरे होने पर एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। 'शिन्हुआ' की रिपोर्ट के मुताबिक कुरैशी ने कहा, पड़ौसी मुल्कों से बातचीत और संबंधों के मामले में अगर भारत एक कदम चलता है तो पाकिस्तान दो कदम और आगे चलेगा।
इससे पहले भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने करतारपुर कॉरिडोर को लेकर कहा था आतंक और वार्ता साथ-साथ नहीं चल सकती है। विदेश मंत्री स्वराज ने सार्क सम्मलेन के आमंत्रण को भी इसलिए ठुकरा दिया था कि जब तक भारत में आतंकी गतिविधियां नहीं रुकती, वह इसमें शामिल नहीं होंगी।
विदेश मंत्रालय ने 28 नवंबर को केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी को करतारपुर कॉरिडोर की ग्राउंडब्रेकिंग सेरेमनी में शामिल होने के भेजा था। तब उन्होने तेलंगाना में चुनाव का हवाला देते हुए पाकिस्तान के इस आमंत्रण को ठुकरा दिया था।
इस्लामाबाद में भारतीय पत्रकारों से बातचीत करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि इसमें पाकिस्तान का कोई फायदा नहीं है कि वह अपने क्षेत्र का उपयोग आतंकवाद के उपयोग के लिए करने दे।
Loading...
Share it
Top