logo
Breaking

पद्मावती विवाद: करणी सेना ने फिल्म के विरोध के लिए लोगों को चित्तौड़गढ़ बुलाया, दी ये चेतावनी

करणी सेना के मुख्य व्यक्ति लोकेंद्र सिंह कालवी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैं श्रीनगर और कोलकाता को छोड़ सभी राज्यों में गया और वहां सबने पद्मावती को बैन करने की मांग की है।

पद्मावती विवाद: करणी सेना ने फिल्म के विरोध के लिए लोगों को चित्तौड़गढ़ बुलाया, दी ये चेतावनी

संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म पद्मावती को लेकर नए सिरे से विवाद शुरू हो गया है। अब करणी सेना ने पद्मावती को बैन करवाने के लिए 27 जनवरी को चित्तौड़गढ़ में महारानी पद्मावती के महल में इकट्ठा होने का ऐलान किया है।

करणी सेना के मुख्य व्यक्ति लोकेंद्र सिंह कालवी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैं श्रीनगर और कोलकाता को छोड़ सभी राज्यों में गया और वहां सबने पद्मावती को बैन करने की मांग की है।

करणी सेना के लोकेंद्र ने 27 जनवरी को सामाजिक संगठनों, सभी वैचारिक लोगों को चित्तौड़गढ़ में महारानी पद्मावती के महल पर इकट्ठा होने के लिए कहा है।

यह भी पढ़ें- शादीशुदा गैर मर्द से संबंध बनाना महिलाओं को पड़ेगा भारी, सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ तय करेगी सजा

लोकेंद्र का कहना है कि फिल्म पद्ममावती को लेकर भंसाली ने कुछ स्पष्ट नहीं किया है। पहले उन्होंने फिल्म को इतिहास बताया, फिर उसे फिक्शन बताया। लेकिन अब वो पद्मावती से सिर्फ पैसे बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

लोकेंद्र ने आगे कहा कि भंसाली सिर्फ हमारे दर्द से पैसा बनाना चाहते हैं, डेढ़ महीने से हमसे किसी ने कोई बात नहीं की। अब हम उन्हे चांदी के जूते से मारेंगे।

लोकेंद्र का कहना है कि वर्तमान स्थिति में फिल्म को रिलीज नहीं होना चाहिए। क्योंकि इसके जरिए हिंदू-मुसलमान को लड़ाने की साजिश रची जा रही हैं। पद्मावती देश का माहौल खराब करेगी।

Loading...
Share it
Top