Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वेदांता को जीई जैसा संगठन बनाना चाहते हैं अनिल अग्रवाल

अग्रवाल ने कहा कि समूह ने अपनी लागत में कमी की है तथा नौकरियों में कोई बड़ी कटौती किए बिना कुल खर्च में 25-30 प्रतिशत कमी की है।

वेदांता को जीई जैसा संगठन बनाना चाहते हैं अनिल अग्रवाल
X

लंदन. पटना में जन्मे प्रमुख खनन उद्योगपति अनिल अग्रवाल अपने औद्योगिकी समूह वेदांता रिसोर्सेज पीएलसी को जनरल इलेक्ट्रिक (जीई) जैसे संस्थान में बदलना चाहते हैं जहां निदेशक से चलने वाली कंपनी को श्रेष्ठ पेशेवर चलाएं। अग्रवाल की यह सोच इसलिए है क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि उनके बच्चे उनसे यह दायित्व संभालेंगे।

जिंस कीमतों में नरमी से अपनी निवल संपत्ति लाखों डालर की कमी से अविचलित अग्रवाल (63) अब धातु से लेकर तेल व गैस तक विभिन्न क्षेत्रों में नया निवेश करने की योजना बना रहे हैं। एक साक्षात्कार में अग्रवाल ने कहा कि 2016 में सुदृढीकरण के बाद जिंस बाजारों में अगले साल सुधार होगा।' उन्होंने कहा, 'मेरे बच्चे नहीं आएंगे और मुझसे कार्यभार नहीं लेंगे।' वे अपना ही काम कर रहे हैं।'
श्रेष्ठ पेशेवरों की नियुक्ति
वेदांता 'जीई जैसा ही एक संस्थान होगा। मूल रूप से इसे आक्रामक, कम लागत वाला व नवोन्मेषी होना होगा। इसे श्रेष्ठ लोगों को आकर्षित करने वाला बनना होगा।' उल्लेखनीय है कि जीई एक निदेशक मंडल से चलने वाली कंपनी है जो कि अपने संचालन के लिए श्रेष्ठ पेशेवरों को नियुक्त करती है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story