Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महागठबंधन बनाने को लेकर विपक्षी दलों की बैठक आज, नहीं शामिल होंगी मायावती

राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम विधानसभा चुनाव के नतीजे मंगलवार यानी 11 दिसंबर 2018 को आएंगे। इससे ठीक एक दिन पहले विपक्षी दलों ने बैठक का आयोजन किया है। यह बैठक आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलगुदेशम पार्टी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने बुलाई है।

महागठबंधन बनाने को लेकर विपक्षी दलों की बैठक आज, नहीं शामिल होंगी मायावती
राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम विधानसभा चुनाव के नतीजे मंगलवार यानी 11 दिसंबर 2018 को आएंगे। इससे ठीक एक दिन पहले विपक्षी दलों ने बैठक का आयोजन किया है। यह बैठक आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलगुदेशम पार्टी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने बुलाई है।
यह बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि विधानसभा चुनाव का फैसला मंगलवार को आएगा तो साथ ही संसद का शीतकालीन सत्र भी मंगलवार को शुरू होगा। लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा का मुकाबला करने के लिए कई विपक्षी दल महागठबंधन बनाने को लेकर उत्साहित है। बताया जा रहा है कि बैठक में महागठबंधन बनाने पर भी चर्चा की जा सकती है।

कौन-कौन हो रहा है शामिल

शरद पवार (sharad pawar) - अध्यक्ष, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP)

ममता बनर्जी (mamata banerjee)- प्रमुख, तृणमूल कांग्रेस (TMC)

फारूक अब्दुल्ला (farooq abdullah)- प्रमुख, नेशलन कांफ्रेंस (NC)

सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) - महासचिव, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी

एस सुधाकर रेड्डी (S Sudhakar Reddy) - महासचिव, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी

एम के स्टालिन (MK Stalin) - अध्यक्ष, डीएमके

अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) - संयोजक, आम आदमी पार्टी (AAP)

तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) - नेता, राजद (RJD)

शरद यादव (Sharad Yadav) - नेता, एलजेडी (LJD)

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) - अध्यक्ष, समाजवादी पार्टी (SP)

मयावती नहीं होंगी शामिल

विपक्षी दलों की इस बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती शामिल नहीं होंगी। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस से नाराजगी के चलते वह इस बैठक से दूर रह सकती हैं। ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या मायावती माहागठबंधन की कवाद को झटका देने की तैयारी में हैं?

माना जा रहा है कि राजस्थान, मध्य प्रदेश, और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के साथ सीटों के बंटवारे पर सहमति न बन पाने के कारण वह नाराज चल रही हैं। वहीं इस तरह की बैठकों से दूर रहने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बैठक में शामिल होने का फैसला किया है।

इस बैठक में सपा की ओर से अखिलेश यादव के शामिल होने पर संशय है। अगर वह शामिल नहीं होते तो रामगोपाल यादव बैठक में शामिल होंगे। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक कांग्रेस ने मायावती के प्रतिनिधि सतीश चंद्र मिश्रा को मनाने की काफी कोशिश की लेकिन उसमें कामयाबी नहीं मिली।

ऐसा भी माना जा रहा है कि मायावती की गैर मौजूदगी एक रणनीति भी हो सकती है। कई नेताओं ने मायावती के इस बैठक में शामिल न होने पर कहा कि हो सकता है मायावती पहले विधानसभा चुनावों के परिणाम का इंतजार कर रही हैं।

आपको बता दें कि 22 नवंबर को बैठक का आयोजन किया गया था लेकिन विधानसभा चुनाव के कारण इस बैठक को स्थगित किया गया था।

Share it
Top