Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसानों के मुद्दे के बीच सांसदों को याद आई अपनी सैलरी

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि क्या संपन्न लोगों को ही संसद सदस्य बनना चाहिए?

किसानों के मुद्दे के बीच सांसदों को याद आई अपनी सैलरी
X

विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी पार्टियों की नाराजगी के बीच संसद का मानसून सत्र अनुमान के मुताबिक हंगामेदार तरीके से चल रहा है।

विपक्षी दल सरकार को किसान, दलितों और गौरक्षकों के मुद्दे पर घेरने की कोशिश कर रहे हैं।

इन मुद्दों पर विपक्षी पार्टियों ने संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया। मंगलवार को बसपा अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद मायावती ने सदन की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया

इसे भी पढ़ें- मायावती ने राज्यसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा, मचा बवाल

आपको बता दें कि बुधवार को लोकसभा में जोरदार हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

हालांकि राज्यसभा में उपसभापति पीजे कुरियन ने सभी दलों को आश्वस्त किया कि किसानों के मुद्दे पर चर्चा जरूर की जाएगी।

इसीबीच राज्यसभा में बुधवार को जब केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह जब इसरो कि उपलब्धियों की जानकारी दे रहे थे।

इसे भी पढ़ें- एक बार फिर सोशल मीडिया पर उड़ा राहुल गांधी का मजाक, गलती थी बस इतनी

मानसून सत्र के दुसरे दिन सांसद किसानो और दलितों के मुद्दे भुलाकर सदन में अपनी सैलरी बढ़ाने की मांग पर अड़ गए।

सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि सांसदों की सैलरी उनके सचिवों से भी कम है।

इसके बाद कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि लोगों को समझना चाहिए कि सांसद के घर में कितने लोग आते हैं।

आनंद शर्मा ने आगे कहा कि क्या संपन्न लोगों को ही संसद सदस्य बनना चाहिए?'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story