Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ओला ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए ''ओला बोट्स'' उपलब्ध करवाईं

ओला बोट्स बाढ़ में फंसे नागरिकों को राहत सामग्री पहुंचाएगी।

ओला ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए
वाराणसी. वाराणसी और इलाहाबाद में बाढ़ से प्रभावित हज़ारों नागरिकों की मदद करने के प्रयास में, परिवहन के लिए भारत के सबसे लोकप्रिय मोबाइल ऐप ओला ने आज ऐलान किया है कि इसने उत्तर प्रदेश के इन दो शहरों के प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की मदद के लिए ओला बोट्स उपलब्ध करवाईं हैं। पेशेवर नाविकों से युक्त ये ओला बोट्स बाढ़ में फंसे नागरिकों को बचा कर सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने में मदद करेगी और उन तक राहत सामग्री जैसे खाद्य पदार्थ, पेयजल और दवाएं पहुंचाएगी।
ओला ने वाराणसी और इलाहाबाद में अपने ऐप पर एक विशेष कैटेगरी 'डोनेट' पेश की है। वे नागरिक जो बाढ़ प्रभावितों के लिए खाद्य सामग्री, कपड़ें, कम्बल, दवाएं आदि दान में देना चाहते हैं, ओला ऐप खोल कर इस आइकन पर क्लिक कर सकते हैं। ओला कि एक राहत वैन उनके घर आकर उनसे यह सामग्री इकट्ठा करेगी और इसे ओला बोट्स के माध्यम से बाढ़ में फंसे लोगों तक पहुंचाया जाएगा। यह कैटेगरी 27 अगस्त से 3 दिनों के लिए हर दिन सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक लाईव होगी।
इस मौके पर ओला में बिज़नेस हेड- ईस्ट पियूष सुराना ने कहा, 'वाराणसी और इलाहाबाद में हज़ारों नागरिक बाढ़ में फंसे हुए हैं और भारी बारिश और जल-भराव से परेशान हैं। हम चाहतें हैं कि हमारे प्रौद्योगिकी मंच के वे लोग आसानी से जरूरी चीज़ें दान में दे सकें, जो इन बाढ़ पीड़ितों की मदद करना चाहतें हैं। दान में आई इस सामग्री को हम ओला बोट्स के द्वारा बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाएंगे।
ओला द्वारा उपलब्ध कराई ये बोट्स बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फंसे लोगों को बचाने में मदद करेंगी और प्रभवित क्षेत्रों तक जरूरी चीज़ों की आपूर्ति करेंगी। हम शहर के उन लोगों को परिवहन के साधन मुहैया कराकर भी उनकी मदद करेंगे, जिन्हें इनकी सबसे ज्यादा जरूरत है। हम अपने उपयोगकर्ताओं से आग्रह करते हैं कि आगे आएं और संकट में इन फंसे अपने साथी नागरिकों की मदद के लिए हाथ बढ़ाएं।'
इससे पहले भी ओला ने चेन्नई और गुवाहाटी में इसी तरह के बाढ़ राहत अभियानों का आयोजन किया है। पिछले साल चेन्नई में आई बाढ़ के दौरान ओला ने तमिलनाडु के अग्नि एवं बचाव विभाग के द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारीं के आधार पर आंशिक या पूर्ण रूप से जल-मग्न क्षेत्रों में बोट्स उपलब्ध कराई थी। हाल ही में गुवाहाटी में आई बाढ़ के दौरान ओला ने अपने ऐप पर एक ऑन-डिमांड 'फ्लड रिलीफ' कैटेगरी पेश की ताकि गुवाहाटी में मौजूद ओला के उपयोगकर्ता इसके माध्यम से ख़राब नहीं होने वाली खाद्य सामग्री एवं कपड़े देकर बाढ़ पीड़ितों तक मदद पहुंचा सकें।
आपको बता दें, ओला ने वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया को इसके राहत एवं बचाव कार्य में मदद करने के लिए गुवाहाटी से पशु चिकित्सकों को काज़ीरंगा भी भेजा था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top