Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रॉ, आईबी, सीबीआई और दिल्ली आयुक्त के लिए अफसरों की लाबिंग

देश की खुफिया एजेंसी (आईबी), विदेशी मामलों की सीक्रेट एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और सीबीआई के निदेशक पद के लिए आईपीएस लॉबी में दौड़ शुरू हो गई है। अगले माह इन सभी एजेंसियों के प्रमुख रिटायर हो रहे हैं।

रॉ, आईबी, सीबीआई और दिल्ली आयुक्त के लिए अफसरों की लाबिंग

देश की खुफिया एजेंसी (आईबी), विदेशी मामलों की सीक्रेट एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और सीबीआई के निदेशक पद के लिए आईपीएस लॉबी में दौड़ शुरू हो गई है। अगले माह इन सभी एजेंसियों के प्रमुख रिटायर हो रहे हैं।

इसके अलावा दिल्ली पुलिस आयुक्त को भी बदले जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं। एसएसबी के डीजी का पद अभी तक स्थायी तौर पर नहीं भरा गया है। आईटीबीपी के डीजी एसएस देशवाल ही एसएसबी डीजी का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे हैं। जांच एजेंसियों, खासतौर पर रॉ व आईबी के चीफ जो कि जनवरी में रिटायर हो रहे हैं, उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद नई पोस्टिंग दिए जाने की चर्चाएं हैं।
इधर सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा का मामला हालांकि अभी सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष विचाराधीन है, लेकिन सरकार उनके उत्तराधिकारी को लेकर भी हरकत में आ गई है। इसके लिए कई नए नाम सामने आ रहे हैं। इनमें पहला नाम एनआईए चीफ वाईसी मोदी का है। वे सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गुड बुक में बताए जाते हैं।

रॉ और आईबी चीफ से सरकार खुश
रॉ चीफ अनिल धस्माना, जो कि मध्यप्रदेश कैडर के 1981 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, उनका कार्यकाल जनवरी 2019 में खत्म हो रहा है। डीओपीटी के सूत्रों का कहना है कि धस्माना को सेवानिवृत्ति के बाद नई जिम्मेदारी दी जा सकती है।
आईबी डायरेक्टर राजीव जैन, झारखंड से 1980 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, वे भी अगले माह रिटायर हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि पीएमओ और डीओपीटी इन दोनों अफसरों की कार्यप्रणाली से खुश हैं, इसलिए इन्हें पोस्ट रिटायरमेंट पोस्टिंग मिलना लगभग तय है। इनमें एक अफसर को जम्मू-कश्मीर भेजे जाने की चर्चाएं हैं।
कुछ दिन पहले ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निदेशक पद से सेवानिवृत्त हुए करनैल सिंह को भी किसी वित्तीय संस्था में शामिल किए जाने की चर्चाएं हैं। इनकी कार्यप्रणाली से पीएमओ संतुष्ट बताया गया है।
Share it
Top