Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

उड़ीसा: पत्नी का शव कंधे पर लेकर 10 किलोमीटर तक चला पैदल

नीय लोगों ने दाना माझी को अपनी पत्नी अमंग देई के शव को कंधे पर लादकर ले जाते हुये देखा।

उड़ीसा: पत्नी का शव कंधे पर लेकर 10 किलोमीटर तक चला पैदल
उड़ीसा. भुनवनेश्वर के पिछड़े आदिवासी जिले कालाहांडी में दाना माझी नाम के व्यक्ति को अपनी पत्नी के मृत शरीर को अपने कंधे पर 10 किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ा। दाना माझी नाम के इस व्यक्ति के साथ उसकी 12 साल की बेटी भी थी।
पूरा मामला
दाना मांझी की 42 वर्षीय पत्नी की भवानीपटना में जिला मुख्यालय अस्पताल में टीबी से ग्रसित होने के कारण मौत हो गई थी। जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने दाना माझी को उसकी पत्नी के शव को वहां से ले जाने को कह दिया। एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक, मांझी का कहना है कि मैंने अस्पताल प्रशासन से बहुत निवेदन किया, कि मै एक गरीब इंसान हूं पत्नी के शव को ले जाने के लिए साधन की सुविधा नहीं करा सकता। कृप्या आप मेरी मदद करिए। लाख कोशिश के बावजूद भी अस्पताल के अधिकारियों से उसे किसी तरह की कोई मदद नहीं मिली।
हालांकि माझी ने बताया कि इसके बाद वह अपनी पत्नी के शव को कंधे पर लादकर अपनी 12 साल की बेटी के साथ भवानीपटना से करीब 60 किलोमीटर दूर रामपुर ब्लॉक के मेलघारा गांव के लिए पैदल चलता गया। बुधवार सुबह स्थानीय लोगों ने दाना माझी को अपनी पत्नी अमंग देई के शव को कंधे पर लादकर ले जाते हुये देखा। जिसके बाद वहां के संवाददाताओं ने जिला कलेक्टर को फोन किया और फिर शेष 50 किलोमीटर की यात्रा के लिए एक एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई
आपको बता दें कि, सरकार की ओर से फरवरी माह में ‘महापरायण’ योजना की शुरुआत की गई थी जिसके तहत शव को सरकारी अस्पताल से मृतक के घर तक पहुंचाने के लिए मुफ्त परिवहन की सुविधा दी जाती है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top