Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कमजोर पड़ा ''ओखी'' चक्रवात, जल्द वापस आएंगे मछुआरे

ओखी चक्रवात ने तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में भारी तबाही मचाई।

कमजोर पड़ा

केरल और दक्षिण तमिलनाडु के साथ-साथ लक्षद्वीप में बड़े पैमाने पर तबाही मचाने वाला ओखी चक्रवात अब कमजोर पड़ता दिख रहा है। तटवर्ती इलाके में रहने वाले लोगों के लिए ये राहत की बात है।

केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि चक्रवात ने बड़े पैमाने पर लक्षद्वीप को प्रभाविक किया है, लेकिन अब यह सूरत से लगभग 1000 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम दूर चली गई है। चक्रवात के पूर्व दिशा में बढ़ने की संभावना है जिसके बाद इसके धीरे-धीरे कमजोर पड़ने की संभावना है।

यह भी पढ़ें- गुजरात चुनाव: फिर शुरू हुई गधा पॉलिटिक्स, स्मृति ईरानी के निशाने पर यूपी के लड़के

जल्द लौटेंगे मछुआरे

केन्द्रीय मंत्री ने चक्रवात की वजह से गायह हुए मछुआरों को जल्द घर वापस लाने का भरोसा जताया। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि केरल और दक्षिण तमिलनाडु के कुछ मछुआरे अभी भी गायब हैं और वे घर वापस नहीं आए हैं। तटीय गार्ड और भारतीय नौसेना द्वारा बचाव कार्य पूरे जोरों पर हैं मुझे यकीन है कि उनके प्रयासों से गायब हुए मछुआरों को बचाया जाएगा और बहुत जल्द घर वापस लाया जाएगा।

यह भी पढ़ें- अगले 15 वर्षों में भारत बनेगा समृद्ध राष्ट्र: गृहमंत्री

भारतीय नौसेना ने चलाया बचाव अभियान

भारतीय नौसेना के प्रवक्ता कंमाडर श्रीधर वारियर ने कहा कि ओखी चक्रवात के बाद भारतीय नौसेना ने दक्षिण-पूर्वी अरब सागर और लक्षद्वीप और मिनिकॉय द्वीपों पर बचाव अभियान चलाया। चेन्नई और कोलकाता की तरफ से कैपिटल जहाजों सहित 10 नौसैनिक जहाजों को दक्षिणपूर्व अरब सागर और एलएंडएम द्वीप पर तैनात किया गया है।

कुल 145 लोगों को बचाया गया

श्रीधर ने आगे कहा कि, इसके अलावा 3 दिसंबर को पूरे दिन लंबी रेंज के समुद्री टोही विमान P8I सहित 8 विमानों को तैनात किया गया है। आज कुल 55 लोगों को बचाया गया जिसके बाद बचने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 145 हो गई है। लक्षद्वीप और मिनिकॉय द्वीप समूह में मौसम की स्थिति अभी भी प्रतिकूल है।

7 दिनों के भोजन और पानी का इंतजाम

HADR सामग्री के साथ भारतीय नौसेना के जहाज चेन्नई, त्रिकांड और कोलकाता द्वीपों के आसपास तैनात हैं। जहाजों को अलवणीकरण पौधों से लैस किया जाता है और जरूरत पड़ने पर द्वीपों को ताज़ा पानी प्रदान किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- जीएसटी के बाद पेश होगा एक फरवरी को देश का पहला आम बजट

कुल राहत सामग्री 7 दिनों की अवधि के लिए लगभग 5000 लोगों को भोजन प्रदान कर सकती है। इसके अतिरिक्त L&M के आस-पास के सभी नौसैनिक इकाइयों को स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर ताजा पानी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। पानी की आपूर्ति बढ़ाने के लिए अतिरिक्त इकाइयां भी तैनात की जाएंगी।

Share it
Top