Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NSG को लेकर रूस का भारत को समर्थन जारी, कहा- फिर होगी चीन से बात

मास्को ने कहा है कि एनएसजी सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी को पाकिस्तान के साथ नहीं जोड़ा जा सकता है।

NSG को लेकर रूस का भारत को समर्थन जारी, कहा- फिर होगी चीन से बात

भारत के सबसे पुराने दोस्त रूस ने एक बार फिर दोस्ती की मिसाल पेश की है। एनएसजी के मुद्दे पर रूस ने भारत का खुलकर समर्थन किया है।

रूस ने कहा कि न्यूक्लियर सप्लाई ग्रुप (एनएसजी) आवेदन को पाकिस्तान से नहीं जोड़ा जा सकता है। रूस ने यह भी कहा कि चीन एनएसजी की सदस्यता को लेकर भारत के खिलाफ है।

ये भी पढ़ें - अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर: पीएम मोदी ने उद्घाटन के दौरान इशारों इशारों में राहुल गांधी पर तंज

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस के उप विदेश मंत्री सर्गेई रयाबकोव ने भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर से मुलाकात की। रूस ने कहा कि हमने पहचाना कि पाकिस्तान के आवेदन को इस मौके पर सर्वसमति नहीं मिली है और भारत से इसको नहीं जोड़ा जा सकता है।

उन्होंने आगे कहा कि हम जानते है कि इसमें कई समस्याएं शामिल हैं। लेकिन कई अन्य देश सिर्फ बोलते हैं। हम कुछ मसौदे तैयार कर रहे हैं। इस मामले पर हम चीन से कई अलग लेवल पर भी बातचीत कर रहे हैं।

चीन भारत की सदस्यता के खिलाफ है। 41 सदस्यों में वो है जो भारत की सदस्यता का विरोध कर रहा है।

ये भी पढ़ें - चीन ने भारत पर लगाया नया आरोप, ड्रोन को लेकर दिया विवादित बयान

यह पहली बार नहीं है जब रूस ने भारत का समर्थन किया हो। रूस ने हर कदम पर एनएसजी में भारत की सदस्यता के लिए समर्थन किया है। मोस्को में रूस के राष्ट्रपति विलादिमीर पुतिन चीन से भारत की सदस्यता के लिए जोर लएगा।

जानकारी के लिए बता दें कि 11 दिसंबर को चीन के विदेश मंत्री वांग यी भारत दौरे पर आने वाले हैं।

Share it
Top