Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आशिक के साथ मिलकर पत्नी ने किया NRI पति का कत्ल

मामले में छानबीन के दौरान पुलिस को एक अहम सुराग मिला, जिसके जरिए वह गुनहगार को पकड़ने में कामयाब रही।

आशिक के साथ मिलकर पत्नी ने किया NRI पति का कत्ल
नई दिल्ली. इंग्लैड से भारत आए एक एनआरआइ की गला रेतकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है। घटना उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले के बसंतापुर इलाके की है। पुलिस के मुताबिक, इंग्लैड के डर्बीशायर में रहने वाले सुखजीत सिंह पत्नी रमनदीप कौर, दो बच्चों और अपनी मां के साथ 28 जुलाई को अपने पैतृक निवास बसन्तापुर आए थे। विगत 1 सितंबर की रात जब वो अपने परिवार के साथ सो रहे थे तभी किसी ने उनकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी।

सुबह जब पत्नी रमनदीप कौर की नींद खुली तो उसने खून से लथपथ अपने पति की लाश देखी। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। फिंगर प्रिन्ट एक्सपर्ट्स और डॉग स्कॉव्यड की टीम ने सुराग की तलाश में आसपास के इलाके में छानबीन की। पुलिस ने सुखजीत सिंह की पत्नी रमनदीप कौर से भी पूछताछ की, लेकिन हत्या किसने की और किस वजह से की इस बात का खुलासा नहीं हो सका। पुलिस ने इस मामले में गहन छानबीन शुरू की और जल्द ही पूरी घटना का खुलासा कर दिया।

इस सनसनीखेज हत्या को अंजाम देने वाले शख्स मिठ्ठू को पुलिस ने दिल्ली के एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है। वह देश छोड़कर भागने की फिराक में था। जब मिठ्ठू को जानने वाले लोगों को इस बारे में पता चला तो उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि वह इस घटना को अंजाम दे सकता है।

पुलिस ने ऐसे सुलझाया यह मामला
हत्या के इस मामले की गुत्थी पुलिस ने कैसे सुलझाई यह कहानी बहुत दिलचस्प है। दरअसल, पुलिस को इस मामले में छानबीन के दौरान सुखजीत के फोन में एक सेल्फी मिली, जिसमें सुखजीत, उसकी पत्नी और दोनों बच्चों के साथ उसका दुबई में रहने वाला स्कूल फ्रेंड भी पोज दे रहा था। सुखजीत भारत आने के बाद अपने पूरे परिवार के साथ छुट्टियां बिताने जोधपुर गया था और यह तस्वीर वहीं क्लिक की गई थी। पुलिस ने इस तस्वीर के जरिए ही इस पूरे मामले का खुलासा किया।

जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 9 साल पहले सुखजीत रोजगार के लिए इंग्लैंड में अपनी बहन के यहां गया था। सुखजीत डर्बीशायर में ट्रांस्पोर्ट कंपनी में काम करने लगा और कुछ ही दिनों में खुद का ट्रक खरीद लिया। कुछ दिन के बाद सुखजीत ने अपनी मां को भी इंग्लैंड में बुला लिया।

सुखजीत को इसी बीच रमनदीप कौर मिली जो ब्रिटिश नागरिक थी और सुंदर भी थी। सुखजीत को उससे प्यार हो गया। दोनों ने 2005 में शादी कर ली। 2015 में सुखजीत के बचपन के दोस्त मिठ्ठू ने उसे परिवार के साथ दुबई आने के लिए आमंत्रण भेजा। सुखजीत अपने परिवार के साथ छुट्टी बिताने दुबई गया। यहीं पर सुखजीत की पत्नी रमनदीप और मिठ्ठू के बीच नजदीकियां बढ़ीं। पुलिस के मुताबिक, रमनदीप और मिठ्ठू उसके बाद भी लगातार एक दूसरे के संपर्क में रहे। दोनों की फोन पर कई घंटे तक बात होती थी।

धीरे धीरे दोनों का प्यार परवान चढ़ने लगा और उन्होंने मिलने का फैसला लिया। रमनदीप ने जालंधर में अपने चाचा के घर छुट्टी पर आने का प्लान बनाया, जहां मिठ्ठू उसका इंतजार कर रहा था। इस दौरान रमनदीप के रिश्तेदारों को मिठ्ठू और उसके बीच चल रहे प्रेम प्रसंग के बारे में भनक लग गई और उन्होंने रमनदीप को इसके लिए सावधान भी किया। लेकिन, रमनदीप ने इस बात की परवाह किए बिना मिठ्ठू के साथ मिलकर अपने पति को ही मौत के घाट उतार दिया। इस पूरे मामले के खुलासे में सुखजीत के अंकल प्यारा सिंह का बहुत योगदान रहा जो पंजाब पुलिस में डीएसपी पद पर तैनात हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top