Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दक्षिण अफ्रीका चुनाव में काम आएंगे भारत में रद्दी हुए 500-1000 के नोट, ये है पूरा मामला

नोटबंदी के बाद 500 और 1000 के नोट बेकार हो गए थे।

दक्षिण अफ्रीका चुनाव में काम आएंगे भारत में रद्दी हुए 500-1000 के नोट, ये है पूरा मामला

भारत में 500 और 1000 रुपए के नोट तो अब रद्दी हो गए हैं लेकिन दक्षिण भारत में ये अभी भी बहुत काम के हैं। भारत में 8 नवंबर 2016 को हुई नोटबंदी के बाद 500 और 1000 के नोट लोगों के लिए बेकार हो गए।

अगर आम जनता के लिए 500 और 1000 के नोट बेकार हो गए तो बैंकों के लिए भी तो वो बेकार ही हैं। क्या आपने सोचा है कि जो 500 और 1000 के नोट आपने बैंक में जमा किए उनका क्या हुआ। उल्लेखनीय है कि इन नोटों को दक्षिण अफ्रीका भेजा जा रहा है। दक्षिण अफ्रीका में होने वाले चुनावों में इन नोटों का इस्तेमाल किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि केरल में कन्नूर की कंपनी वेस्टर्न इंडियन प्लाइवुड लिमिटेड 500 और 1000 की नोटों से हार्ड बोर्ड तैयार कर रही है जिन्हें दक्षिण अफ्रीका के चुनावों में इस्तेमाल किया जाएगा। दक्षिण अफ्रीका में 2019 में चुनाव होने वाले हैं।
ऐसा करने वाली कंपनी की स्थापना कन्नूर के वलापट्टनम में 1945 में हुई थी। ये कंपनी प्लाईवुड, ब्लॉक बोर्ड और फ्लश डोर तैयार करती है। आमतौर पर भारतीय रिजर्व बैंक बेकार नोटों को जला देता है लेकिन ये कंपनी इन्हें रिसाइकल करेगी।
ऐसा थर्मोमकैनिकल तकनीक के जरिए होगा। इस तकनक से पहले नोटों की लुग्दी तैयार की जाएगी और इसके बाद मशीनों के जरिए लकड़ी की लुग्दी से हार्डबोर्ड तैयार किए जाएंगे। कंपनी ने इन नोटं के लिए बैंक को 200 रुपए प्रति टन के हिसाब से पैसे दिए हैं। कंपनी के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक के तिरुवनंतपुरम स्थित क्षेत्रीय दफ्तर से उन्हें 800 टन के बंद नोट दिए गए हैं।
Next Story
Top