Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इसलिए जारी नहीं किया जाएगा सर्जिकल स्ट्राइक वीडियो

सूत्रों के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक की कुल 90 मिनट की वीडियो फुटेज है।

इसलिए जारी नहीं किया जाएगा सर्जिकल स्ट्राइक वीडियो
नई दिल्ली. सर्जिकल स्ट्राइक पर हो रही राजनीति के बीच सेना ने वीडियो फुटेज व फोटो सरकार को सौंप दिए हैं। सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक की कुल 90 मिनट की वीडियो फुटेज है। अब यह मोदी सरकार पर निर्भर करता है कि वो वीडियो रिलीज करती है या नहीं। यह भी माना जा रहा है कि सरकार राजनीतिक दबाव में आकर वीडियो जारी नहीं करेगी। आपको बता दें कि ओसामा के मारे जाने का वीडियो अमेरिका ने अभी तक जारी नहीं किया है। जबकि दुनिया उससे वीडियो या सबूत की मांग करती रही है।
एबीपी की खबर के मुताबिक, सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर विपक्ष की तरफ से सरकार से सबूत मांगे जा रहे हैं लेकिन सूत्रों के मुताबिक सरकार वीडियो जारी करने के पक्ष में नहीं है। सूत्रों के मुताबिक सरकार का कहना है रिकॉर्डिंग करने का उद्देश्य राजनीतिक नहीं रणनीतिक है। सरकार किसी तरह के राजनीतिक दबाव में फंसना नहीं चाहती।
सूत्रों के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक की कुल 90 मिनट की वीडियो फुटेज है जो हमला करने गए कमांडोज के हेलमेट में लगे कैमरे से ली जा रही थीं। ऑपरेशन के दौरान कमांडोज के हेलमेट में थर्मल इमेंजिग और नाइटविजन कैमरे लगे थे। इसके साथ ही सेना की उत्तरी कमान ने साउथ ब्लॉक स्थित सेना मुख्यालय को 25-30 अहम फोटो भेजे गए। सेना को इन सबूतों को सार्वजनिक करने पर एतराज नहीं है। हालांकि सेना को शंका है कि इससे उसकी प्लानिंग के बाद हुए ऑपरेशन की जानकारी दुश्मन को मिल जाएगी। जैसे कहां से कमांडो ने पीओके में एलओसी क्रॉस की, लॉन्चिंग पैड तक पहुंचने में क्या रूट लिया गया।
केजरीलवाल ने मांगा सबूत
आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत पेश करने की अपील की थी तो वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी सेना पर भरोसा तो जताया लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक की वीडियो जारी करने की मांग कर दी। केजरीवाल ने सेमवार रात एक वीडियो जारी किया था जिसमें मोदी की तारीफ करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत पेश कर पाकिस्तान को झूठा साबित करने की मांग की थी। इसके बाद पाक मीडिया ने केजरीवाल को बतौर हीरो पेश किया था।
सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो से पाकिस्तान क्या जानकारी प्राप्त करना चाहता है-
1. कौन सा हेलिकॉप्टर इस्तेमाल किया गया।
2. क्या ट्रांस्पोर्ट तकनीकी थी जिसको पाकिस्तान डिटेक्ट नहीं कर पाया।
3. भारतीय सेना ने किन नाइट विजन उपकरणों एवं कपड़ों का इस्तेमाल किया।
4. किस तरह का गोला बारूद इस्तेमाल किया कि आवाज़ ही सुनाई नहीं दी।
5. किस तरह का संचार उपकरण और लोकेशन फाइंडर इस्तेमाल किया।
6. किस तरह की ग्राउंड अटैक फॉर्मेशन बनाई थी भारतीय सेना ने।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top