Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब नेट निरपेक्षता के बचाव में उतरी एयरटेल

विट्टल ने कहा, इसमें और टोल फ्री वॉयस मसलन 1-800 में कोई अंतर नहीं है। सभी वेबसाइट, कंटेंट या एप्लिकेशन के साथ उसके नेटवर्क पर समान बर्ताव किया जाएगा।

अब नेट निरपेक्षता के बचाव में उतरी एयरटेल
X

नई दिल्ली.इंटरनेट निरपेक्षता को लेकर विवादों के घेरे में आई भारती एयरटेल ने शुक्रवार को कहा कि वह सभी वेबसाइटों व एप्लिकेशंस के साथ समान बर्ताव करेगी, बेशक वे उसके टोल फ्री प्लेटफार्म पर हैं या नहीं। पिछले सप्ताह पेश एयरटेल-जीरो एक खुला बाजार मंच है, जिसमें उपभोक्ताओं को कुछ मोबाइल एप्स तक मुफ्त में पहुंचने की सुविधा होती है। इसके शुल्क का बोझ एप बनाने वाली कंपनियां उठाती हैं।

2015 में 7.5 फीसदी रहेगी भारत की वृद्धि दर, सरकार उठा रही उत्साहजनक कदम : मूडीज

भारती एयरटेल के प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (भारत व दक्षिण एशिया) गोपाल विट्टल ने कर्मचारियों को भेजे पत्र में कहा है, ‘पिछले कुछ दिन के दौरान आपको एयरटेल जीरो पर काफी बहस देखने को मिली है। इसे ऐसे पेश किया जा रहा है कि जैसे हम नेट निरपेक्षता का उल्लंघन कर रहे हैं। हम मीडिया और सोशल मीडिया में इस बारे में कुछ हलकों से भेजी जा रही गलत सूचना को लेकर चिंतित हैं।’ मैं इस अवसर का लाभ स्थिति साफ करने के लिए उठाना चाहता हूं। हम पूरी तरह नेट निरपेक्षता के पक्ष में हैं। यह प्लेटफार्म सभी एप डेवलपर्स, कंटेंट प्रदाताओं और इंटरनेट साइटों को समानता के आधार पर उपलब्ध है और सभी को समान रेट कार्ड की पेशकश की जा रही है।

धमाकेदार सेल की तैयारी में फ्लिपकार्ट, कंपनी मोबाइल इंटरफेस और डेटा माइनिंग पर कर रही फोकस

विट्टल ने कहा, इसमें और टोल फ्री वॉयस मसलन 1-800 में कोई अंतर नहीं है। सभी वेबसाइट, कंटेंट या एप्लिकेशन के साथ उसके नेटवर्क पर समान बर्ताव किया जाएगा। बेशक वे टोल फ्री प्लेटफार्म पर हैं या नहीं। विट्टल ने कहा कि कंपनी के रूप में हम किसी वेबसाइट को ब्लॉक नहीं करते हैं न ही उसे अलग रफ्तार की पेशकश करते हैं। हमने ऐसा कभी नहीं किया है और न ही ऐसा करेंगे। हमारा मानना है कि हम इस कारोबार में उपभोक्ताओं की ही वजह से हैं।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, लोगों को असमंजस में डालने का प्रयास -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story