Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सेना में तैनात महिला ने बताई आपबीती, कहा- रेप होना है आम बात, किए कई खुलासे

महिलाओं के पीरियड्स तक रुक जाते हैं।

सेना में तैनात महिला ने बताई आपबीती, कहा- रेप होना है आम बात, किए कई खुलासे

उत्तर कोरिया परमाणु परीक्षण द्वारा दुनियाभर में अपनी ताकत का प्रदर्शन करता है। उत्तर कोरिया भले ही लाख दिखा ले कि नो बहुत शक्तिशाली है लेकिन वहां की महिला सैनिकों की हालत दयनीय है। सेना में काम कर रही महिलाओं ने कहा कि उनके साथ रेप की घटनाएं आम हैं।

इसके साथ ही ड्यूटी पर तैनात महिलाओं के पीरियड्स भी रुक जाते हैं क्योंकि उन्हें मुश्किल परिस्थितियों से निपटना पड़ता है। महिलाओं को एक ही सैनेटरी नैपकिन बार-बार इस्तेमाल करनी पड़ती है। ये बात सालों तक उत्तर कोरिया की सेना में रीं ली सो योन बताईं।
ली सो चीन के रास्ते से दक्षिण कोरिया पहुंची। उन्होंने बताया कि वो करीब 10 साल तक उत्तर कोरिया की सेना में रही हैं। 1992 में वो 17 साल की थीं और 2001 में उन्होंने सेना छोड़ दी। ली ने बताया कि वो रेप से बच गईं लेकिन उनके कई साथियों के साथ रेप हो चुका है।
ली ने बताया कि कमांडर अपनी ड्यूटी के बाद कमरे में रहता था और वो अपने अधीन काम कर रही महिला सैनिकों का रेप करता था। उन्होंने कहा कि ये एक-दो दिन की बात नहीं है बल्कि ये हर रोज होता था। ली अब 41 साल की हो चुकी हैं और उन्होंने बताया कि वो अपनी सेना की नौकरी से काफी प्यार करती हैं। उन्होंने कहा कि सेना में महिलाओं के शरीर पर बुरा असर पड़ता है कियोंकि उन्हें कड़ा प्रशिक्षिण दिया जाता है और खाने की कमी होती है।
ली ने बताया कि सेना में तनावपूर्ष माहौल और कुपोषण की वजह से महिलाओं को पीरियड्स बंद हो जाते हैं। महिलाओं को पीरियड्स न होना अच्छा लगता था। उन्हें लगता था कि अगर उन्हें पीरियड्स होते तो उनकी स्थिती और खराब हो जाती।
गौरतलब है कि ली ने बताया कि उन्होंने अपनी इच्छा से आर्मी ज्वाइन की। किन जोंग की सेना में उत्तर कोरिया में अगर कोई महिला सेना में काम करती है तो 7 साल सेना में सेवा जारी रखना जरूरी है। ली ने 2008 में उत्तर कोरिया से भागने की भी सोची और 2 बार भागने की कोशिश की।
ली को पहली बार पकड़ लिया गया और एक साल के लिए जेल में भी भेज दिया दया और दूसरी बार वो नदी में तैर कर भागीं और सफल रहीं।
Next Story
Top