Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब बच्चों को नहीं उठाना पड़ेगा बस्ते और सिलेबस का बोझ

बोर्ड ने कहा है कि स्कूल बच्चों को किताबें ख़रीदने के लिए मजबूर न करे।

अब बच्चों को नहीं उठाना पड़ेगा बस्ते और सिलेबस का बोझ
नई दिल्ली. पहली और दूसरी क्लास के सभी बच्चों को अब स्कूल के भारी बैग और सिलेबस से छुटकारा मिलने वाला है। भारी स्कूल बैग का बोझ बच्चे नहीं सह सकते, इससे उनकी सेहत पर भी सीधा असर होता है।
इसी को ध्यान में रखते हुए सीबीएसइ ने अपने से जुड़े सभी स्कूलों को एडवाइजरी जारी की है। बोर्ड ने क्लास 1 और 2 के बच्चों को स्कूल बैग नहीं ले जाने की सलाह दी है। पहली और दूसरी क्लास के बच्चों को होमवर्क से भी दूर रखा गया है। सीबीएसइ ने छात्रों से समय सारिणी का सख्ती से पालन करने के लिए कहा है। एडवाइजरी में कहा गया है कि बच्चे स्कूल में केवल वही किताबें लेकर आएं जिनकी जरुरत हो।
सीबीएसइ ने इस संबंध में स्कूलों को भी सुझाव देते हुए कहा कि बच्चों को ऐसी सुविधा प्रदान कि जाए जिससे कि उन्हें किताब के बजाय असेंबली में ही प्रोजक्टर के जरिए सिलेबस समझा दिया जाए। सीबीएसइ ने सुझाव दिया है कि स्कूल बैग का वजन उचित है या नहीं सुनिश्चित करने के लिए अचानक स्कूल बैग की जांच कर सकते हैं। साथ ही स्कूलों से कहा है कि छात्रों को अपने होमवर्क और कार्य को पूरा करने के लिए अलग से समय दिया जाए।
इसके साथ ही तमिलनाडु, केरल और दिल्ली जैसे कई राज्यों ने बस्ता को हल्का करने के लिए संशोधित पाठ्यपुस्तकों का उपयोग करने के विशेष दिशा निर्देश जारी किए हैं। कई निजी स्कूलों में भी स्मार्ट कक्षाओं और टेबलेट का उपयोग करने पर जोर दिया है।
साभार- TLI
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top