Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चीन: ईसाई समुदाय के पास नहीं है प्रार्थना करने की जगह, सरकार ने जारी किया ऐसा फरमान

चीन की वामपंथी सरकार ने सभी धर्मों को चीनी हिसाब से ढालने और विकास परियोजनाओं के नाम पर प्राचीन इलाकों को ढहाने का अभियान तेज कर दिया है। इसी के चलते चीन के हेनान प्रांत में रहने वाले रोमन कैथोलिक समुदाय के पास प्रार्थना करने के लिए कोई जगह नहीं बची है।

चीन: ईसाई समुदाय के पास नहीं है प्रार्थना करने की जगह, सरकार ने जारी किया ऐसा फरमान

चीन की वामपंथी सरकार ने सभी धर्मों को चीनी हिसाब से ढालने और विकास परियोजनाओं के नाम पर प्राचीन इलाकों को ढहाने का अभियान तेज कर दिया है। इसी के चलते चीन के हेनान प्रांत में रहने वाले रोमन कैथोलिक समुदाय के पास प्रार्थना करने के लिए कोई जगह नहीं बची है।

मध्य चीन में कैथोलिक चर्च के बाहर लगे एक सरकारी साइन बोर्ड पर बच्चों को प्रार्थना में नहीं शामिल होने की चेतावनी दी गई है। यहां अवैध चर्च गिराए जा रहे हैं। पादरी इसकी सूचना अधिकारियों को दे रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- माल्या को लेकर कांग्रेस का सरकार पर हमला, कहा- पीएम, एफएम और CBI की भूमिका की जांच हो

चीन में ईसाईयों के लिए फिलहाल इसी तरह का माहौल बना हुआ है। यह अभियान और तेज होता जा रहा है। सन् 1951 में वेटिकन और बीजिंग के आपसी संबंध कटु हो गए थे हालांकि अब उनमें सुधार आया है और बीजिंग के बिशप की नियुक्ति के अधिकार को लेकर जारी विवाद अब कुछ सुलझता दिख रहा है।

इस विवाद के चलते चीन के करीब 1,20,00,000 कैथोलिक दो समूहों में बंट गए हैं। एक समूह जो सरकार द्वारा मंजूर धर्माधिकारी को मानता है और दूसरा वह जो रोम समर्थक चर्च के स्वीकृत नियमों को मानता है।

इसे भी पढ़ें- गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर AIIMS में भर्ती, धवलीकर संभाल सकते हैं राज्य की कमान

चर्च के शीर्ष पर से क्रॉस हटा लिए गए हैं, धार्मिक सामग्रियों और पवित्र चीजों को जब्त कर लिया गया है और चर्च द्वारा चलाए जाने वाले केजी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। चर्च से राष्ट्रीय झंडा फहराने और संविधान को प्रदर्शित करने को कहा गया है जबकि सार्वजनिक स्थानों से धार्मिक प्रतिमाओं को हटाने को कहा गया है।

Loading...
Share it
Top