logo
Breaking

5 वर्षों में आएंगा $85 अरब FDI, देश के युवाओं को मिलेंगे रोजगार के 7 लाख मौके

केंद्र सरकार का कहना है कि इंडिया की बेरोजगारी को चीनी कंपनिया दूर करेंगी।

5 वर्षों में आएंगा $85 अरब FDI, देश के युवाओं को मिलेंगे रोजगार के 7 लाख मौके

केंद्र सरकार का मानना है कि इंडिया की बेरोजगारी को चीनी कंपनिया दूर करेंगी। चीन की सैनी हेवी इंडस्ट्री सहित करीब 600 कंपनियां भारत में लगभग 85 अरब डॉलर निवेश की योजना बना रही हैं। जिन प्रॉजेक्ट्स में ये निवेश करेंगी, उनमें अगले पांच वर्षों में रोजगार के 7 लाख मौके बनने का अनुमान है।

विदेशी निवेश को बढ़ावा देने वाली सरकार की नीति इन्वेस्ट इंडिया के तहत देश को इन्वेस्टमेंट के एक आकर्षक ठिकाने के रूप में बेहतर ढंग से पेश करने की तैयारी है। इन्वेस्ट इंडिया ने ऐसी 200 कंपनियों की लिस्ट बनाई है, जो अभी भारत में कारोबार नहीं कर रही हैं।

इसे भी पढें: युवाओं को जॉब देने के लिए मोदी सरकार ने बनाया ये मास्टरप्लान, 3 लाख युवाओं को भेजेंगे जापान

इन्वेस्ट इंडिया के एमडी दीपक बागला ने बताया, 'हम अगले दो वर्षों में 100 अरब डॉलर विदेशी निवेश का लक्ष्य पाना चाहते हैं। इसमें नए और पहले से चल रहे, दोनों तरह के प्रॉजेक्ट्स में निवेश शामिल है।' वित्त वर्ष 2017 के दौरान भारत में सबसे ज्यादा 43 अरब डॉलर एफडीआई आया था। यह रकम इससे पहले वाले साल से 9 फीसद ज्यादा थी।

इसे भी पढें: बिहार डाक विभाग भर्ती: विभाग में निकली बंपर भर्ती, ऐसे करें आवेदन

दुनिया की बड़ी इंजिनियरिंग मशीनरी मैन्युफैक्चरर्स में शामिल चीन की सैनी हेवी इंडस्ट्री की योजना 9.8 अरब डॉलर निवेश की है। पसिफ़िक कंस्ट्रक्शन, चाइना फॉर्च्यून लैंड डिवेलपमेंट और डैलियन वांडा जैसी चीन की कंपनियों के साथ ऐमजॉन भी इस दौरान भारत में निवेश की योजना बना रही हैं। इनमें से हर एक 5 अरब डॉलर निवेश कर सकती हैं।

Loading...
Share it
Top