Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब ''बंगाल'' कहिये जनाब

विधानसभा में राज्य का नाम बदलने का प्रस्ताव पारित

अब
कोलकाता. पश्चिम बंगाल विधानसभा ने पश्चिम बंगाल का नाम बदलकर बंगाली में बांग्ला करने और अंग्रेजी में बेंगाल करने के एक प्रस्ताव को पारित कर दिया। कांग्रेस, भाजपा और वामदलों समेत विपक्ष ने इस कदम का विरोध किया। संसदीय कार्यमंत्री पार्थ चटर्जी ने नियमावली 169 के तहत यह प्रस्ताव पेश किया।
प्रस्ताव कहता है कि राज्य का नाम बंगाली में बांग्ला, अंग्रेजी में बेंगाल व हिंदी में बंगाल होगा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बांग्ला नाम की ऐतिहासिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि है। मुझे बौंगो नाम पर कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन ज्यादातर लोग बांग्ला नाम चाहते हैं। अंग्रेजी में यह बेंगाल होगा ताकि पड़ोसी देश बांग्लादेश के साथ कोई भ्रम नहीं हो।
उन्होंने कहा, जब भी हम भारत के बाहर या किसी अन्य राज्य में जाते हैं, हम बंगाल के लोग के रूप में जाने जाते हैं। वर्ष 2011 में हमने राज्य का नाम बदलने का प्रस्ताव रखा था लेकिन उसे केंद्र ने रोक लिया। इस संबंध में कोई फैसला नहीं हो सकता अतएव हमने राज्य का नाम बदलकर बांग्ला करने के लिए एक बार फिर लाने का फैसला किया।
बाद में संवाददाताओं से उन्होंने कहा, जो लोग बस राजनीति के लिए इस नाम परिवर्तन का विरोध कर रहे हैं, उन्हें शर्म करना चाहिए। यह एक ऐतिहासिक भूल है और इतिहास उन्हें नहीं माफ करेगा।
विरोधियों को आनी चाहिए शर्म : ममता
ममता बनर्जी ने ने कहा कि जो लोग बस राजनीति के लिए इस नाम परिवर्तन का विरोध कर रहे हैं, उन्हें शर्म करना चाहिए। यह एक ऐतिहासिक भूल है और इतिहास उन्हें नहीं माफ करेगा। वर्ष 2011 में हमने राज्य का नाम बदलने का प्रस्ताव रखा था लेकिन उसे केंद्र ने रोक लिया था।
खास बातें
-विधानसभा में राज्य का नाम बदलने का प्रस्ताव पारित
-बंगाली में बांग्ला, अंग्रेजी में बेंगाल तो हिंदी में बंगाल
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top