Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ये है भारत का पहला राष्ट्रीय युद्ध स्मारक, जानें इसकी 10 ख़ास बातें

देश के पहले राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) का आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन करेंगे। यह युद्ध स्मारक देश के शहीदों की याद में बनाया गया है। आइए जानते हैं देश के पहले युद्ध स्मारक की खास बातें

ये है भारत का पहला राष्ट्रीय युद्ध स्मारक, जानें इसकी 10 ख़ास बातें

देश के पहले राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) का आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन करेंगे। यह युद्ध स्मारक देश के शहीदों की याद में बनाया गया है। आइए जानते हैं देश के पहले युद्ध स्मारक की खास बातें (National war memorial Facts)...

  • देश के पहले राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) का निर्माण इंडिया गेट के सी-हेक्सगन के कुल करीब 40 एकड़ के इलाके में किया गया है।
  • शहीदों के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रम अब इंडिया गेट के बजाय राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) पर आयोजित होंगे। 26 जनवरी, 15 अगस्त जैसे राष्ट्रीय पर्व या किसी विदेशी मेहमान के द्वारा दी जाने वाली श्रद्धांजलि अब युद्ध स्मारक (National war memorial) पर ही दी जाएगी।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) को 1947 के बाद लड़े गए 5 युद्ध, काउंटर टेररिज्म ऑपरेशन, उग्रवाद के खिलाफ जारी अभियानों में शहीद हुए कुल 26 हजार से अधिक भारतीयों की याद में बनाया गया है।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) के निर्माण को वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार ने मंजूरी प्रदान की थी। इसके बाद अब यह करीब साढ़े चार वर्षों में बनकर पूरी तरह से तैयार हो गया है।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) में अमर जवान ज्योति का भव्य प्रतिरूप, 26 हजार से अधिक शहीदों का नाम-रैंक ग्रेनाइट की अलग-अलग शिलाओं पर लिखा है। इसमें 21 परमवीर चक्र विजेताओं की कांस्य की मूर्तियां लगाई गई हैं।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) बन जाने के बाद भारत दुनिया के उन तमाम देशों के क्लब में शामिल हो गया है, जिनका खुद का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक है।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) का खुलने का समय गर्मियों में सुबह नौ बजे से शाम को साढ़े सात बजे तक होगा। सर्दियों में सुबह नौ बजे खुलेगा और शाम को साढ़े छह बजे बंद किया जाएगा। केवल रविवार के दिन स्मारक के खुलने का वक्त सुबह नौ बजे पचास मिनट होगा।
  • देशवासियों को बीते करीब छह दशक से अधिक समय से राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National war memorial) की प्रतीक्षा थी।
  • इंडिया गेट पर भी अमर जवान ज्योति पहले की तरह ही जलती रहेगी। लेकिन अब यहां पर केवल प्रथम, द्धितीय विश्वयुद्ध में शहादत देने वाले कुल करीब 83 हजार भारतीयों से जुड़ी हुई सैन्य रेजीमेंटों से जुड़े हुए कार्यक्रमों के दौरान ही श्रद्धांजलि दी जाएगी।
  • ये 83 हजार शहीद तत्कालीन अंग्रेजी सरकार में ब्रिटिश सेना का हिस्सा थे।
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top