Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बड़ा खुलासा: कल्पना चावला समेत इन छह लोगों की मौत के पीछे थी नासा की साजिश!

कल्पना चावला और उनके छह यात्रियों की पहसे से ही साजिश रची थी। इसके लिए नासा ने नहीं दी कोई भी जानकारी।

बड़ा खुलासा: कल्पना चावला समेत इन छह लोगों की मौत के पीछे थी नासा की साजिश!
नासा ने अपने मिशन को पूरा करने के लिए पहले से ही इन सात लोगों को चुना था। जिसके चलते उन सातों की मौत का उन्हें पता भी नहीं लगने दिया। कि वो सातों दोबारा इस दुनिया को देख भी सकेंगे कि नहीं। इस बात का उन्हें जरा सा भी इल्म नहीं था।
आपको बता दें कि इस मिशन में सिर्फ कल्पना चावला (Kalpana Chawla) ही नहीं बल्कि उनके साथ गए छह और एस्ट्रोनोट भी शामिल थे। इन यात्रियों का अंत डिस्कवरी की उड़ान के साथ तय हो चुका था।
ये सातों एस्ट्रोनोट अनजान रहकर 16 दिन तक मौत के साय में रह रहे थे। नासा इस बारे में जानता था, लेकिन उसने किसी को भी इस बारे में कुछ नहीं बताया था। नासा को कोलंबिया स्पेस शटल के उड़ान भरते ही पता चल गया था कि ये सुरक्षित जमीन पर नहीं उतरेगा।
इस बात का नासा को पहले से ही पता था, जो सात यात्री आतंरिक्ष में जा रहे है, वो दोबारा वापस कभी भी लौटकर नहीं आएंगे। लेकिन इसके बावजूद भी उन सात लोगों को ही चुना गया था, जिसमें भारत की आतंरिक्ष में जाने वाली बहादुर बेटी कल्पना चावला भी शामिल थी।
सवाल ये उठता है कि जब नासा को पता था, तो आखिर इन्हें क्यों जाने दिया? इसी बात का जवाब लोगों के दिमाग में आ रहा है। उन्हें इस बात के सच को छुपा कर रखा गया था। बात हैरान करने वाली है, लेकिन उतनी ही सच्च भी है, इसका खुलासा खुद मिशन कोलंबिया के प्रोग्राम मैनेजर ने किया है।
आपको बता दें कि इसके पीछे ऐसा करने की एक ही वजह थी कि इन लोगों को बिना भनक लगे अपने मिशन का पूरा करवाया गया। इसके लिए वो जी-जान से अपने मिशन में पूरा करने में लगे रहे। और पल-पल की जानकारी नासा को भेजते रहे।
लेकिन बदले में नासा जान कर भी अनजान बना बैठा रहा। वो इस बात को मान गया था कि ये सातों लोग हमेशा-हमेशा के लिए धरती को छोड़कर जा चुके हैं और उनके शरीर अब सिर्फ टुकड़ों के साथ ही आएंगे। मिशन कोलंबिया के प्रोग्राम मैनेजर ने अपनी दलीले देते हुए कहा कि वेन हेल के मुताबिक अगर अंतरिक्ष यात्रिय़ों को जानकारी होती, तो भी वो कुछ नहीं कर सकते थे।
हद से हद ऑक्सीजन रहने तक वो अंतरिक्ष का चक्कर ही लगा सकते थे, ऑक्सीजन खत्म होने पर वैसे भी उनकी जान चली ही जाती। ये खुलासा इतना सनसनीखेज है कि कई लोग इस पर यकीन करने को तैयार नहीं है। कोलंबिया स्पेस शटल की फ्लाइट इंजीनियर कल्पना चावला के पिता ने भी इसे खारिज कर दिया है।
Next Story
Share it
Top