Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''नरेश अग्रवाल जैसे नेताओं को गोली मार देनी चाहिए''

पाकिस्तान की जेल में कथित रूप से जासूसी के मामले में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर बुधवार को समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने विवादित बयान दिया है।

पाकिस्तान की जेल में कथित रूप से जासूसी के मामले में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर बुधवार को समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने विवादित बयान दिया है। नरेश के इस बयान को लेकर संसद से लेकर सड़कों तक घमासान मचा हुआ है।

सपा नेता के इस बयान को लेकर तमाम राजनितिक पार्टियां नरेश अग्रवाल के खिलाफ लामबंद हो गई हैं। इसी बीच सपा नेता के बायन से खफा हिंदू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 'नरेश अग्रवाल जैसे नेता राष्ट्रद्रोही हैं और उन्हें गोली मार देनी चाहिए।'

यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई बड़ी चूक, सरकार ने दिए अधिकारियों के खिलाफ जांच के आदेश

इसी दौरान केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल की टिप्पणी को बेहद शर्मनाक और अवांछनीय बताया है। केन्द्रीय मंत्री ने संसद में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कुलभूषण जाधव का मामला एक राष्ट्रीय सम्मान का विषय है।

केन्द्रीय मंत्री नरेश के बयान को शर्मसार करने वाला बताया तो सुब्रह्मण्यम स्वामी ने माफी न मांगने पर संसद सदस्यता की जाने की मांग कर डाली। यहां तक कि उनकी अपनी पार्टी ने बयान की निंदा की।

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, किस देश की क्या नहीं है वो देश जानता है। अगर उन्होंने (पाकिस्तान) कुलभूषण जाधव को अपने देश में आतंकवादी माना है, तो वो उस हिसाब से व्यवहार करेंगे।

यह भी पढ़ें- कुलभूषण जाधव को लेकर सपा नेता ने दिया विवदित बयान, बाद में दी ये सफाई

हमारे देश में भी आतंकवादियों के साथ ऐसा ही व्यवहार करना चाहिए, कड़ा व्यवहार करना चाहिए। उन्होंने कहा मैं नहीं समझ पाता की मीडिया सिर्फ कुलभूषण जाधव पर क्यों बात कर रहा है। पाकिस्तान की जेल में सैंकड़ों हिन्दुस्तानी बंद हैं। सब की बात क्यों नहीं की जा रही मैं नहीं समझ पा रहा हूं।

हाला की नरेश अग्रवाल ने अपने बायन के बाद सफाई भी दी। उन्होंने कहा मेरा कहने का मतलब कुछ और था। जो भारतीय पाक की जेल में बंद हैं, उनके साथ वो जो व्यवहार कर रहे हैं, हमें भारत में भी जो पाकिस्तान के जासूस या आतंकवादी हैं। उनके साथ वैसा ही करना चाहिए। हम उनके साथ खुली छूठ देकर व्यवहार कर रहे हैं, हमें ये नहीं करना चाहिए।

Share it
Top