Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नंदन नीलेकणी बने इन्फोसिस के अध्यक्ष

इससे पहले नीलेकणी 2002 से 2007 तक कंपनी के सीईओ रहे थे।

नंदन नीलेकणी बने इन्फोसिस के अध्यक्ष

नंदन नीलेकणी एक बार फिर इन्फोसिस के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं। सीईओ विशाल सिक्का के इस्तीफे के बाद से देश के सबसे बड़ी आईटी कंपनी को नए मुखिया की तलाश थी।

निलेकणी ने भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) जॉइन करने के लिए जून 2009 में इस्तीफा देने के बाद से इन्फोसिस से लगातार दूरी बनाए रखी।

माना जाता है कि जब मूर्ति साल 2013 में दोबारा कंपनी में लौटे तो उन्होंने निलेकणी को भी ऐसा करने के लिए कहा, लेकिन वह नहीं माने।

इन्फोसिस के संस्थागत निवेशकों का प्रतिनिधत्व करने वाले करीब 12 कोष प्रबंधकों ने नंदन नीलेकणि को इन्फोसिस के निदेशक मंडल में वापस लाने का सुझाव दिया था।

कोष प्रबंधकों का कहना है कि इससे अंशधारकों का भरोसा फिर कायम किया जा सकेगा और कंपनी के संकट को हल किया जा सकेगा।

यह नीलेकणि की वापसी की वकालत करने का दूसरा मौका है। इससे पहले निवेश सलाहकार कंपनी आईआईएएस ने कहा था कि नीलेकणि को कंपनी के गैर-कार्यकारी चेयरमैन के रूप में वापस लाया जाना चाहिए।

नीलेकणी मार्च, 2002 से अप्रैल, 2007 तक कंपनी के सीईओ रहे थे। गौरतलब है कि पिछले सप्ताह इन्फोसिस के पहले गैर-संस्थापक सीईओ विशाल सिक्का ने अपने पद से अचानक इस्तीफा दे दिया था।

Next Story
Share it
Top