Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चुनाव से पहले नगा मुद्दे का समाधान चाहती हैं सभी पार्टियां, BJP ने की चुनाव की मांग

भाजपा के नगालैंड के प्रभारी राम माधव ने कहा कि प्रदेश की नई सरकार नगा मुद्दे का समाधान लेकर आएगी।

चुनाव से पहले नगा मुद्दे का समाधान चाहती हैं सभी पार्टियां, BJP ने की चुनाव की मांग

नगालैंड के शीर्ष आदिवासी संगठन नगा होहो की मांग को सत्तारूढ़ एनपीएफ सहित तमाम राजनीतिक दलों ने आज अपना समर्थन दिया है। सभी राजनीतिक दलों ने विधानसभा चुनाव से पहले नगा मामले के समाधान की मांग की है।

नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ), नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) तथा आम आदमी पार्टी ( आप) ने नगा होहो की कोर कमेटी को एक बैठक में बताया कि वह उनके ‘‘चुनाव नहीं, समाधान' की मांग से सहमत हैं।

इसे भी पढ़ें- कश्मीर में पेट्रोल पार्टी पर हमला, फायरिंग में दो नागरिकों की मौत

चार विधायकों वाले भारतीय जनता पार्टी ने इस बैठक में हिस्सा नहीं लिया और आदिवासी नेताओं ने कहा कि वह भगवा पार्टी से अपील करेंगे कि वह लोगों के विचार को स्वीकार करें।

आदिवासी संगठन ने राज्य में 27 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों को टाल देने की वकालत करते हुए कहा कि सात दशक से अधिक पुराने नगा मसले का समाधान निकालने की पहले आवश्यकता है।

कांग्रेस, नेशनल डेमोक्रेटिक पीपुल्स पार्टी, जनता दल यू, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी और नगालैंड कांग्रेस ने 25 जनवरी को एक बैठक कर आदिवासी संगठन की चुनाव प्रक्रिया में हिस्सा नहीं लेने की मांग पर सहमति जता दी थी।

इसे भी पढ़ें- कासगंज हिंसा: देर रात तक आगजनी और पथराव जारी, इंटरनेट सेवाएं ठप्प

राजनीतिक दलों ने हालांकि, होहो से अपील की है कि वह 1998 के राज्य विधानसभा चुनाव दोहराने से बचने के लिए पहले भाजपा को चुनाव से दूर रहने के लिए मनाए।

नगा होहो ने 1998 में चुनाव का बहिष्कार करने की अपील की थी लेकिन अंतिम मौके पर सत्तारूढ कांग्रेस ने नामांकन दायर कर दिया था और पार्टी साठ में से 59 सीट जीत गयी थी।

भाजपा के नगालैंड के प्रभारी राम माधव ने 22 जनवरी को दीमापुर में कहा था कि प्रदेश की नयी सरकार नगा मुद्दे का समाधान लेकर आएगी और यह संवैधानिक जरूरत है कि पहले चुनाव कराया जाए।

Next Story
Share it
Top