Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पीएम मोदी ने कहा- ''मेरी नेपाल यात्रा पड़ोसी पहले की नीति के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता दर्शाती है''

पीएम ने कहा कि यह यात्रा नेपाल के साथ हमारे वर्षों पुराने, करीबी और मैत्रीपूर्ण संबंधों को भारत की तरफ से दी जाने वाली उच्च प्राथमिकता को दर्शाता है।

पीएम मोदी ने कहा-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि उनकी दो दिवसीय नेपाल यात्रा पड़ोस पहले की नीति के प्रति उनकी सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। उन्होंने हिमालयी देश के नए युग में प्रवेश करने की बात करते हुए कहा कि भारत उसका पक्का साथी बना रहेगा।

मोदी शुक्रवार को नेपाल पहुंचेंगे और प्रधानमंत्री के तौर पर यह उनकी हिमालयी देश की तीसरी यात्रा होगी। प्रधानमंत्री ने एक वक्तव्य में कहा, यह नेपाल के साथ हमारे वर्षों पुराने, करीबी और मैत्रीपूर्ण संबंधों को भारत और खासतौर पर मेरी तरफ से दी जाने वाली उच्च प्राथमिकता को दर्शाता है।

नेपाली प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली की पिछले महीने हुई भारत आने के बाद उनकी नेपाल यात्रा हो रही है। वक्तव्य ने कहा, यह उच्चस्तरीय और नियमित संवाद ‘पड़ोस पहले' की नीति के साथ ‘सबका साथ, सबका विकास' के नीतिवाक्य के अनुरूप मेरी सरकार की प्रतिबद्धताओं को दर्शाता है।

मोदी ने कहा कि दोनों देशों ने पिछले कुछ वर्षों में कई द्विपक्षीय संपर्क और विकास परियोजनाओं को पूरा किया है और अपने लोगों के फायदे के लिए बदलाव लाने वाली पहलों को शुरू किया है।-

इसे भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: घाटी में फिलहाल नहीं होगा एक तरफा संघर्ष विराम, महबूबा ने की थी अपील

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री ओली और मेरे पास पारस्परिक हित के मुद्दों पर नयी दिल्ली में हाल में हुई व्यापक चर्चा और विभिन्न क्षेत्रों में हमारी सहयोगपूर्ण भागीदारी को आगे बढ़ाने का अवसर होगा।

वक्तव्य में कहा गया है, चूंकि नेपाल लोकतंत्र के लाभ को मजबूत करने और तीव्र आर्थिक वृद्धि और विकास को हासिल करने के नये युग में प्रवेश कर रहा है, भारत ‘समृद्ध नेपाल, सुखी नेपाल' की उसकी दृष्टि को लागू करने में नेपाल सरकार का पक्का साथी बना रहेगा।

इसे भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: NCP-कांग्रेस गठबंधन कर लड़ेगी आम चुनाव, शरद पवार ने की घोषणा

जनकपुर और मुक्तिनाथ भी जाएगे मोदी

मोदी ने कहा कि वह काठमांडो के अतिरिक्त जनकपुर और मुक्तिनाथ भी जाने को उत्सुक हैं। इन दोनों स्थानों पर हर साल बड़ी संख्या में तीर्थयात्री आते हैं। उन्होंने कहा, वे भारत और नेपाल के लोगों के बीच प्राचीन और ठोस सांस्कृतिक तथा धार्मिक संबंधों का जीता-जागता उदाहरण हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि वह नेपाल में विभिन्न नेताओं और मित्रों से भी मिलने को उत्सुक हैं। मोदी ने कहा, मुझे भरोसा है कि मेरी यात्रा से नेपाल के साथ पारस्परिक लाभ, सद्भावना और समझ पर आधारित हमारी जन केंद्रित भागीदारी और मजबूत होगी।

Next Story
Top