Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे के बीच प्यार बढ़ाएगा RSS रक्षाबंधन

गंगा-जमुनी संस्कृति को तहजीह के लिए जयपुर, लखनऊ और दिल्ली में कार्यक्रम।

हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे के बीच प्यार बढ़ाएगा RSS रक्षाबंधन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आरएसएस की मुस्लिम शाखा 'मुस्लिम राष्ट्रीय मंच' ने हिंदू-मुस्लिम भाईचारे के लिए एक अलग तरह के प्रयास की तैयारी की है। इसके लिए मुस्लिम राष्ट्रीय मंच रक्षाबंधन का सहारा लेने जा रहा है।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच पूरे देश में एक अलग तरह के राखी कैंपेन को चलाने की तैयारी में है। इसके तहत मुस्लिम लड़कियों से हिंदू लड़कों और हिंदू लड़कियों से मुस्लिम लड़कों को राखी बंधवाई जाएंगी।

जयपुर से होगी शुरुआत

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के मुताबिक इस मुहिम की शुरुआत जयपुर में 3 अगस्त से की जाएगी। इसके बाद 5 और 6 अगस्त को इसका आयोजन दिल्ली और लखनऊ में भी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें-पीएम के इस काम को नहीं कर पाए ये 21 सांसद, मोदी हुए नाराज

इन आयोजनों में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के प्रमुख इंद्रेश कुमार भी उपस्थित रहेंगे। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक मोहम्मद अफजल ने बताया कि मुस्लिम बहनें इंद्रेश कुमार को भी राखी बांधेंगी।

लखनऊ में एक दो दिन कार्यक्रम, एक दिन दिव्यांगों को

रक्षाबंधन के उपलक्ष्य में 'लखनऊ में दो दिन कार्यक्रम होंगे। एक कार्यक्रम पूरी तरह से दिव्यांगों के लिए होगा। इस कार्यक्रम का एकमात्र उद्देश्य हिंदुओं और मुस्लिमों में भाईचारे को बढ़ाकर अपनी गंगा-जमुनी तहजीब को संरक्षित करना है।

उन्होंने बताया कि उनके संगठन ने देशभर के 12 राज्यों में इस कैंपेन को चलाने की तैयारी की है।

बकरीद पर गोहत्या न करने की अपील

रक्षाबंधन 7 अगस्त को है। मोहम्मद अफजल ने बताया कि पूरे अगस्त महीने के दौरान देशभर में इस कैंपेन को चलाया जाएगा। हम एक साथ त्योहार मनाते आए हैं। पहले भी कई मौकों पर मुस्लिम भाइयों ने हिंदू बहनों की रक्षा की है।

संयोजक ने बताया कि 2 सितंबर को बकरीद है। मुस्लिमों से अपील की जाएगी कि वे गोहत्या न करें, क्योंकि यह हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं से जुड़ा हुआ है।

अफजल ने कहा, 'मोहम्मद साहब ने कहा था कि गाय का दूध दवा है और इसका मांस नुकसानदायक। उनके उपदेशों में कहा गया है कि दूसरे धर्मों की भावना को चोट नहीं पहुंचाना चाहिए और इसे सबको मानना चाहिए।

यह भी पढ़ें-सावधान! भारत में जीका वायरस ने दी दस्तक

इससे पहले 'मुस्लिम राष्ट्रीय मंच' रमजान के दौरान गाय के दूध की पार्टी भी आयोजित कर चुका है। तब गाय के दूध से ही मुस्लिमों के रोजे खुलवाए गए थे। अफजल के मुताबिक 25 राज्यों में इसका आयोजन किया गया था।

Next Story
Top