Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

OMG: पत्नी की मौत से पति बना करोड़पति!

पत्नी की मौत सड़क दुर्घटना में मौत हो जाने पर मोटर ऐक्सिडेंट्स क्लेम्स ट्राइब्यूनल ने बीमा कंपनी को पीड़ित पति को 1 करोड़ रुपए देने का आदेश दिया है।

OMG: पत्नी की मौत से पति बना करोड़पति!

पत्नी की सड़क दुर्घटना में मौत हो जाने पर मोटर एक्सीडेंट क्लेम्स ट्रिब्यूनल ने बीमा कंपनी को पीड़ित पति को 1 करोड़ रुपए देने का आदेश दिया है। पति ने क्लेम में कहा था कि वह आर्थिक रूप से अपनी पत्नी पर निर्भर था और पत्नी की मौत के बाद उसे आर्थिक संकट से जूझना पड़ रहा है इसलिए उसे क्लेम की रकम मिलनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें- सावधान! मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने में कहीं आप भी न खा जाएं गच्चा, लग सकता हैं लाखों का चूना

क्या है मामला

मामला साल 2008 का है। अनाघा नामक महिला अपने पति विवेक के साथ बाइक पर अपने ऑफिस जा रही थी तभी रास्ते में मुंबई के अंधेरी फ्लाई ओवर के पास बाइक ट्रक से भिड़ने पर अनाघा की मौके पर ही मौत हो गई।

मृतका का पति 26 वर्षीय विवेक उस समय बेरोजगार था। इस दुर्घटना के बाद विवेक ने कोर्ट में मुआवजे के लिए क्लेम किया, जिसमें उसने दलील दी कि उसकी पत्नी ही घर में कमाने वाली सदस्य थी।

ट्रक ड्राइवर ने मारी थी टक्कर

जब इस घटना की जांच की गई तो पता चला कि इस घटना में ट्रक चालक बाबूराम की गलती थी। उसने ही बाइक को टक्कर मारी, जिससे अनाघा की मौत हो गई।

शुरु में वीइकल ओनर ऐंड न्यू इंडिया बीमा कंपनी लिमिटेड ने विवेक की शिकायत को खारिज कर दिया था लेकिन छानबीन और जांच के बाद जब यह स्पष्ट हुआ कि महिला की मौत ट्रक चालक की गलती की वजह से हुई थी तो पति को मुआवजा देने का पर कंपनी राजी हुई।

इसे भी पढ़ें- ट्रेन में 8 महीने की गर्भवती महिला को बेरहमी से पीटा, फोटो वायरल

मृतका की इनकम को आधार बनाया

मामले में मृतका की इनकम के आधार पर इस मुआवजे का ऐलान किया गया है क्योंकि मृतक महिला अपनी कंपनी में नेशनल अकाउंट मैनेजर की पोस्ट पर थी और उसकी सालाना इनकम 35 से 40 लाख रुपये थी। इसी को देखते हुए एक करोड़ रुपये मुआवजा तय किया गया।

बता दें कि मुकदमे को लड़ते-लड़ते अब विवेक की उम्र 37 वर्ष हो गई है। ट्रिब्यूनल कोर्ट ने यह फैसला बिना किसी लिंग आधार पर पति की आर्थिक निर्भरता को देखते हुए सुनाया है।

Next Story
Share it
Top