Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गणतंत्र दिवस 2018: किसान नेताओं ने दिल्ली में निकाला ''संविधान बचाओ मोर्चा''

संविधान बचाओ मोर्चा के बारे में किसान नेता राजू शेट्टी ने अपील की है कि संविधान में श्रद्धा रखने वाले हर भारतीय को ''संविधान बचाओ मोर्चा'' में शामिल होना चाहिए।

गणतंत्र दिवस 2018: किसान नेताओं ने दिल्ली में निकाला

आज जब पूरा देश गणतंत्र दिवस के पर्व में डूबा हुआ, वहीं दूसरी ओर मुंबई में संविधान के नाम पर राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। एक तरफ तमाम विपक्षी दलों ने मिलकर 'संविधान बचाओ मोर्चा' निकला, वहीं इसके जवाब में भाजपा ने 'तिरंगा यात्रा' का आयोजन किया है।

संविधान मोर्चा में शामिल की अपील

संविधान बचाओ मोर्चा के बारे में किसान नेता राजू शेट्टी ने अपील की कि संविधान में श्रद्धा रखने वाले हर भारतीय को 'संविधान बचाओ मोर्चा' में शामिल होना चाहिए।

आयोजक के अध्यक्ष शेट्टी ने कहा कि संविधान बचाओ मोर्चा किसी के विरोध में नहीं है। कोई नेता इसका नेतृत्व नहीं करेगा। किसी पार्टी का झंडा इस मोर्चे में नहीं होगा। कोई नारेबाजी नहीं होगी। यह एक वैचारिक संकल्पना है। इसलिए संविधान पर श्रद्धा और विश्वास रखने वाला हर नागरिक इसमें शामिल हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : शहीद गरुड़ कमांडो जेपी निराला को अशोक चक्र से नवाजा, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हुए भावुक

उन्होंने कहा कि हमारा संविधान खतरे की कगार पर है इसको बचाने के लिए लोगों में मोर्चे के जरिए जागरुक किया जा रहा है। यह मोर्चे को आज के दिन निकाला गया। इससे सत्ताधारियों का छुपा एजेंडा सामने आने लगा है। जो लोग संविधान के ऊपर पूरा भरोसा करते है उनके दिल को अहात पहुंचा है। लोग अब अपने आप को डरे और सहमें महसूस करने लगे है।

न्यायपालिका पर अब प्रश्न चिह्न उठ रहे हैं, मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने कहा कि 'संविधान बचाओ मोर्चा' के आयोजन से घबराकर भाजपा ने तिरंगा यात्रा का आयोजन किया है।

इसे भी पढ़ें : Republic Day 2018: माइनस 30 डिग्री में 18 हजार फीट पर भारत के हिमवीरों ने लहराया तिरंगा, देखें वीडियो

मंत्रालय से गेटवे तक निकलेगा मोर्चा

संविधान बचाओ मोर्चा दोपहर को 12 बजे मंत्रालय के पास स्थित डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा से शुरू होते हुए गेटवे ऑफ इंडिया तक गई। गेटवे पर जाकर मूक धरने में बदल जाएगा।

मोर्चे में राकांपा नेता शरद पवार, शरद यादव, तुषार गांधी, बाबा आढाव, संजय निरुपम, अशोक चव्हाण, डॉ. फारूक अब्दुला, हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकुर, सुशीलकुमार शिंदे, मुस्लिम धर्मगुरु सज्जाद नोमाने, पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण समेत विपक्ष के कई नेता शामिल हुए।

इसे भी पढ़ें : गणतंत्र दिवस परेड: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल को मिली छठी पंक्ति में सीट, कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना

भाजपा की तिरंगा यात्रा

भाजपा की तिरंगा यात्रा दोपहर 2 बजे दादर चैत्यभूमि से शुरू होकर परेल के कामगार मैदान पहुंच कर संविधान सम्मान सभा में बदल गई। तिरंगा यात्रा का नेतृत्व मुंबई भाजपा के अध्यक्ष आशीष शेलार ने किया। संविधान सम्मान सभा को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस संबोधित किया।

Next Story
Share it
Top