Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

किसान के समर्थन में बोले राहुल गांधी, ''महाराष्ट्र ही नहीं देशभर का किसान परेशान''

नासिक से मुंबई अपनी मांगों को लेकर पहुंचे हजारों किसान आजाद मैदान में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों कs प्रदर्शन के मुंबई पहुंचते ही इस पर राजनीति शुरु हो गई है।

किसान के समर्थन में बोले राहुल गांधी,

अपनी मांगों को लेकर नासिक से मुंबई पहुंचे हजारों किसान आजाद मैदान में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का प्रदर्शन मुंबई पहुंचते ही इस पर राजनीति शुरु हो गई है।

सभी दलों के नेता यहां विरोध कर रहे किसानों से मिलने पहुंच रहे हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि महाराष्ट्र में सरकार चला रहे भाजपा और शिवसेना के नेताओं ने भी यहां पहुंचकर किसानों को समर्थन देने का वादा किया है। राज ठाकरे भी यहां किसानों से मिलने पहुंचे।

यह भी पढ़ें- जानिए क्या है स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें जिसके लिए हजारों किसान उतरे हैं सड़कों पर

राहुल गांधी ने कही ये बात

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को किसानों के प्रदर्शन को लेकर कहा कि ये सिर्फ महाराष्ट्र के किसानों की समस्या नहीं है देशभर का किसान इस समस्या से जूझ रहा है।

किसानों के हक में शिवसेना

प्रदर्शनक कर रहे किसानों से मिलने के बाद शिवसेना की ओर से कहा गया है कि जब शिवसेना विपक्ष में थी तब भी वह किसानों के साथ थी और जब सत्ता में है तब भी वो किसानों के साथ है। किसानों का कर्ज माफ करने के लिए शिवसेना ने आग्रह किया था, उद्धव जी बहुत आग्रही रहे हैं।

यह भी पढ़ें- दलित महिलाओं को पीटते और गालियां देते बीजेपी विधायक का वीडियो वायरल, FIR दर्ज

क्या है किसानों की मांग

  • मार्च कर रहे किसानों की मांग है कि पूरे तरीके से कर्जमाफी हो क्योंकि बैंकों से लिया कर्ज किसानों के लिए बोझ बन चुका है। हर साल मौसम के बदलने से फसलें बर्बाद हो रही है, ऐसे में किसानों का कहना है कि उन्हें कर्ज से मुक्ति मिले।

  • वहीं किसान संगठनों ने कहा है कि महाराष्ट्र के ज्यादातर किसान फसल तबाह होने के चलते बिजली का बिल नहीं चुका पाते हैं इसलिए उन्हें बिजली के बिल में भी छूट दी जाए।

  • किसान फसलों के सही दाम न मिलने से भी नाराज है। सरकार ने बजट में भी किसानों को एमएसपी का तोहफा दिया लेकिन किसान संगठनों का कहना है कि केंद्र सरकार की एमएसपी की योजना महज दिखावा है।

  • वहीं मार्च पर उतरे किसान स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें भी लागू करने की मांग किसान कर रहे हैं।

Next Story
Top