Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भीमा कोरेगांव हिंसा: मुंबई के आजाद मैदान में एकजुट हुए हजारों लोग, संभाजी भिड़े की गिरफ्तारी की मांग

भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह के मौके पर भड़की हिंसा के मुख्य आरोपी संभाजी भिड़े की गिरफ्तार को लेकर मुंबई के आजाद मैदान में हजारों लोग एकजुट होकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

भीमा कोरेगांव हिंसा: मुंबई के आजाद मैदान में एकजुट हुए हजारों लोग, संभाजी भिड़े की गिरफ्तारी की मांग

महाराष्ट्र के पुणे जिले में जनवरी माह में भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह के मौके पर भड़की हिंसा के विरोध में लोग एकजुट हुए हैं। इस हिंसा के मुख्य आरोपी संभाजी भिड़े की गिरफ्तार को लेकर लोग मुंबई के आजाद मैदान में प्रदर्शन कर रहे हैं।

एएनआई के मुताबिक, मुंबई के आजाद मैदान में इस हिंसा के खिलाफ हजारों लोग प्रदर्शन में शामिल हैं। सभी की मांग है कि जल्द से जल्द इस हिंसा के आरोपी संभाजी भिडे की गिरफ्तारी की जाए।

बता दें कि महाराष्ट्र के पुणे जिले में एक जनवरी को भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह के मौके पर हिंसा भड़क गई थी। जिसके दो दिन बाद ये हिंसा पुणे मुंबई समेत राज्य के इस हिस्सों में फैल गई। इस हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक, भीमा-कोरेगांव की लड़ाई एक जनवरी 1818 को लड़ी गई थी। इस लड़ाई में ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना ने पेशवा की सेना को हराया था। दलित समुदाय ब्रिटिश सेना की इस जीत का जश्न मनाते हैं।

कौन हैं संभाजी भिड़े

85 साल के संभाजी भिड़े आरएसएस के प्रचारक हैं। न्यूक्लियर फिजिक्स में एमएससी भिड़े पुणे के फर्गुसन कॉलेज में प्रोफेसर रह चुके हैं। 1980 में उन्होंने शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान नाम की एक संस्था बनाई।

ये भी पढ़े: अली फजल के साथ अपने रिलेशनशिप पर खुलकर बोली रिचा चड्ढा, कहा- 'बात छिपाने में नहीं करती यकीन'

भिड़े सतारा, सांगली और कोल्हापुर इलाकों में भिड़े गुरुजी नाम से बहुत मशहूर हैं और साइकिल से चलना पसंद करते हैं। उनकी संस्था का मुख्य काम शिवाजी महाराज के बारे में लोगों को बताना है और उनके भाषण अल्पसंख्यकों के खिलाफ होते हैं।

Next Story
Top