Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आबादी के मामले में भारत के दो शहरों ने दुनिया को पछाड़ा

भारत के शहर मुंबई और कोटा दुनिया के सर्वाधिक भीड़भाड़ वाले शहरों में शामिल हैं।

आबादी के मामले में भारत के दो शहरों ने दुनिया को पछाड़ा

पूरे देश में प्रतियोगी परीक्षाओं का हब माना जाने वाला राजस्थान का कोटा शहर एक बार फिर से चर्चा में है। दरअसल हाल ही में वर्ल्ड एकोनॉमिक फोरम लिस्ट में कोटा को विश्व का सांतवा सबसे अधिक घनी आबादी वाला शहर माना है।

यहां पर प्रति वर्ग किमी 12100 की आबादी है। इस लिस्ट में देश की आर्थिक राजधानी मुंबई दूसरे स्थान पर है। मुंबई में प्रति वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में 31700 लोग रहते हैं। टॉप 10 की सूची में भारत के दो शहरों को शामिल किया गया है।

ये भी पढ़ें - 3 साल मोदी सरकार: जनता को पसंद आए ये 10 बड़े कदम

वर्ल्ड एकोनॉमिक फोरम की रिपोर्ट के मुताबिक, बांग्लादेश की राजधानी ढाका विश्व में सबसे अधिक घनी आबादी वाला शहर है। ढाका शहर में प्रति वर्ग किलोमीटर एरिया में 44500 लोग निवास करते हैं।

इस लिस्ट में तीसरा स्थान पर कोलंबिया का मेडलिन शहर (19,700 लोग), चौथे पर फिलिपींस का मनीला (14,800), पांचवे पर मोरक्को कासबलांसा (14,200), छठवें नंबर पर नाइजीरिया का लागोस (13,300 लोग), आठवे नंबर पर सिंगापुर (10,200 लोग) और 9वें नंबर पर इंडोनेशिया के जकार्ता शहर (9,600) को रखा गया है।

दुनिया की आधी से ज्यादा आबादी शहरी क्षेत्रों में

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने कहा कि कई कारण से बहुत से लोग शहरी इलाकों में बसने का निर्णय लेते हैं, लेकिन ज्यादातर मामलों में सामान्य तथ्य यह है कि लोग शहर में काम करने की वजह से रहते हैं।

दुनिया की आधी से ज्यादा आबादी शहरी क्षेत्रों में रहती है। यूएन को उम्मीद है कि साल 2050 में यह आंकड़ा बढ़कर 66 प्रतिशत हो जाएगा। इसके साथ ही एशिया और अफ्रीका में शहरी क्षेत्रों में रहने वालों में करीब 90 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Next Story
Top