Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सपा में फूट: मुलायम कर सकते हैं नए CM का ऐलान

मुलायम ने कहा है कि नया सीएम चुना जाएगा।

सपा में फूट: मुलायम कर सकते हैं नए CM का ऐलान
लखनऊ. यूपी चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में घमासान मच चुका है। ऐसे में सत्तारूढ़ समाजवादी कुनबे में मचे घमासान के बीच समाजवादी पार्टी (सपा) मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शुक्रवार (30 दिसंबर) को बहुत बड़ी कार्रवाई करते हुए अपने पुत्र एवं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव को पार्टी से छह-छह साल के लिये निष्कासित कर दिया।
कैसे पड़ी सपा में फूट?
मुलायम-शिवपाल ने तीन बार में 393 कैंडिडेट्स की लिस्ट जारी की। इसके बाद अखिलेश यादव ने 235 कैंडिडेट्स की अपनी अलग लिस्ट जारी की। इसमें मुलायम की लिस्ट वाले 31 कैंडिडेट्स के नाम काट दिए। यहीं से टकराव गहराया। रामगोपाल यादव ने दिल्ली में आपातकालीन सम्मेलन बुलाया। इससे नाराज मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश और रामगोपाल को नोटिस भेजा। नोटिस भेजने के आधे घंटे के भीतर दोनों को पार्टी से निकाल दिया।
अब क्या होगा?
मुलायम ने कहा है कि नया सीएम चुना जाएगा। सपा राज्यपाल से अखिलेश को हटाने को कह सकती है। राज्यपाल खुद नजर रख रहे हैं। चुनाव नजदीक हैं, इसलिए हो सकता है कि राष्ट्रपति शासन लगा दिया जाएगा। वहीं, कांग्रेस-रालोद ने संकेत दिए हैं कि शक्ति परीक्षण जैसी स्थिति में वे अखिलेश की मदद कर सकते हैं।
अखिलेश-रामगोपाल पर बोले मुलायम
1. पिता मानता होगा तो देखा जाएगा
- मुलायम ने कहा, "अखिलेश क्या माफी मांगेगा, वो तो लड़ता है। पिता मानता होगा मुझे तो देखा जाएगा।"
2. समाजवादी पार्टी चुनेगी यूपी का नया सीएम
मुलायम ने कहा, 'असेम्बली में पार्टी का लीडर पार्लियामेंट्री बोर्ड चुनेगा। सपा यूपी का नया सीएम चुनेगी। सपा को बचाने के लिए किसी भी हद तक जाएंगे। किसी भी कीमत पर पार्टी को बचाएंगे।'
3. अब अखिलेश का राजनीति में कोई भविष्य नहीं
मुलायम ने कहा, 'अखिलेश यादव का अब राजनीति में कोई भविष्य नहीं है। सपा में रामगोपाल यादव और अखिलेश यादव का कोई योगदान नहीं है।'
4. रामगोपाल ने पार्टी को नुकसान पहुंचाया
मुलायम बोले,"रामगोपाल ने ना केवल अनुशासनहीनता की, बल्कि उन्होंने पार्टी को कमजोर करने और नुकसान पहुंचाने का काम किया। पार्टी को बचाने के लिए अखिलेश यादव और राम गोपाल यादव को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित किया जाता है।'
5. रामगोपाल ने अखिलेश को गुटबाजी में फंसाया
'रामगोपाल यादव ने सीएम को गुटबाजी में फंसा दिया। सीएम समझ नहीं रहे हैं, सीएम तो निर्विवाद छवि वाला होता है। ये जनरल सेक्रेटरी बने बैठे हैं और आदेश करते हैं। दूसरा कोई काम नहीं करते हैं। अधिवेशन बुलाने का अधिकार राष्ट्रीय अध्यक्ष का है, वो मैं हूं।'
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top