logo
Breaking

''तीन तलाक'' पर शीतकालीन सत्र में बनेगा कानून: मुख्तार अब्बास नकवी

नकवी ने कहा कि कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं कि तीन तलाक विधेयक लोगों को परेशान के लिए लाया जा रहा है।

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने रविवार को कहा कि एक बार में तीन तलाक के खिलाफ विधेयक को संसद के मौजूदा सत्र में पेश करनी की कोशिश की जाएगी और उम्मीद है कि सभी राजनीतिक दल इसका समर्थन करेंगे।

नकवी ने कहा, कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं कि यह विधेयक लोगों को परेशान के लिए लाया जा रहा है जबकि ऐसा नहीं है। मोदी सरकार सिर्फ मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए यह विधेयक ला रही है।

इसे भी पढ़ें- यहां पढ़ें तीन तलाक पर मोदी सरकार का पूरा कानूनी प्रावधान, इन 5 अहम बातों पर ज्यादा जोर

उन्होंने कहा, तीन तलाक का मामला धार्मिक नहीं बल्कि यह कुरीतियों से जुड़ा हुआ है। सती प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ कानून बन सकते हैं तो फिर तीन तलाक पर कानून क्यों नहीं बनना चाहिए।

इस पर बहुत पहले कानून बन जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। शायद वोटबैंक की राजनीति इसमें रुकावट पैदा कर रही थी। पर अब कानून बनेगा। उन्होंने कहा, हमारी कोशिश है कि संसद के इसी सत्र में यह विधेयक पेश किया जाए।

Loading...
Share it
Top