Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

विश्व में सबसे ज्यादा कुपोषित है देश का भविष्य, मध्यप्रदेश है पहले नंबर पर

स्वास्थ्य सर्वेक्षण-3 के मुताबिक, देश भर में पांच वर्ष से कम आयु के 42.5 प्रतिशत बच्चे अपेक्षित वजन से कम हैं।

विश्व में सबसे ज्यादा कुपोषित है देश का भविष्य, मध्यप्रदेश है पहले नंबर पर
X
नई दिल्ली. आंकड़ों के जरिए मध्य प्रदेश की सरकार बाल कल्याण व विकास के जितने दावे करे पर हकीकत ये है कि कुपोषित बच्चों के मामले में देश के दूसरे सूबों की तुलना में यह शीर्ष पर है। मध्य प्रदेश की तरह छत्तीसगढ़ भी इस मामले में पीछे नही है। कम वजन व कुपोषित बच्चों के मामले में छत्तीसगढ़ देश में चौथे स्थान पर है। जबकि बिहार व झारखंड क्रमश: दूसरे व तीसरे स्थान पर हैं। केंद्र सरकार ने इस सच्चाई को स्वीकार करते हुए यह माना है कि विश्व में कुपोषित बच्चों के मामले में भारत का पहला स्थान है। सर्वाधिक कुपोषित बच्चे भारत में ही हैं।
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों के मुताबिक, विश्व भर की तुलना में सर्वाधिक कुपोषित बच्चे भारत में ही हैं। इनमें मध्य प्रदेश में कुपोषित बच्चों की संख्या सबसे ज्यादा है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लोकसभा में इस सच्चाई को स्वीकार करते हुए कहा कि वर्ष 2005-06 में संचालित राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-3 के मुताबिक, देश भर में पांच वर्ष से कम आयु के 42.5 प्रतिशत बच्चे अपेक्षित वजन से कम हैं तथा 48 प्रतिशत बच्चों का विकास बाधित है। उन्होंने बताया कि इस समस्या से निपटने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत माताओं एक बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार लाने हेतु
विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं जिसमें बच्चों के पोषण की स्थिति पर ध्यान दिया जाता है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने बताया कि, मौजूदा कार्यक्रमों के अलावा मंत्रालय की ओर से हाल ही में बच्चों, किशोरों, गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं तथा प्रजनन आयू समूह की महिलाओं में रक्ताल्पता की कमी को दूर करने के लिए एक प्रभावकारी कार्यनीति के रुप में ‘राष्ट्रीय आयरन प्लस पहल’शुरु की गई है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, नेताओं के स्वास्थ्य पर 5000 तो गरीबों पर 180 रुपये प्रतिवर्ष होता है खर्च-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top