Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मां ने 200 रुपए में बेचा 2 साल का एकलौता बेटा

पति का आरोप पत्नी को मना करने पर रिक्शावाले को बेचे आई।

मां ने 200 रुपए में बेचा 2 साल का एकलौता बेटा

त्रिपुरा में एक महिला द्वारा अपने बच्चे को बेचने का मामला सामने आया है। त्रिपुरा के धलाई जिले में एक शख्स ने अपनी पत्नी पर अपने 2 साल के इकलौते बेटे को महज दो रुपए में बेचने आरोप लगाया है। पति का कहना है कि उसकी पत्नी ने बेटे को एक ऑटोरिक्शा चालक को बेच दिया। आपको बता दें कि इस दंपति की 4 बेटियां भी हैं।

पति ने बताया कि उसके मना करने के बावजूद भी उसकी पत्नी ने बच्चा बेचा। उसने बताया कि जिसे बच्चा बेचा गया हम उससे मिलने गए, लेकिन उसने ये कहते हुए बच्चा हमें वापस नहीं किया कि वो बच्चा केवल उसकी मां को ही लौटाएगा।

गौरतलब है कि 15 दिनों के अंदर गरीब आदिवासी परिवार द्वारा बच्चा बेचने का ये दूसरा मामला है। इससे पहले एक आदिवासी महिला ने अपने पति के इलाज के लिए अपने 11 दिन के बेटे को मजह 7600 रुपए में बेच दिया था। इसके अलावा पिछले दो सालों में गरीबी की वजह से बच्चे बेचने की 4 घटनाएं सामने आ चुकी हैं। बता दें कि त्रिपुरा में लेफ्ट की सरकार है। यहां 8 महीने बाद विधानसभा इलेक्शन होने हैं।

बेटे को वापस चाहते हैं

बच्चे के पिता खंजय रियांग का कहना है, हमारा परिवार काफी गरीब है, हमारे पास बुनियादी सुविधाएं भी नहीं हैं, लेकिन मैं अपनी पत्नी की हरकत से दुखी हूं। पति खन्जय रियांग ने कहा, मुझे पता चला है कि उसके परिवार की लाख कोशिशों के बाद भी बेटा सुनिजय खुश नहीं है। वह हम लोगों के लिए लगातार रो रहा है। हम उसे फिर से अपने पास लाना चाहते हैं, लेकिन हमारे पास उस दंपति को लौटाने के लिए पैसे नहीं हैं।

एडमिनिस्ट्रेशन जांच में गंभीर नहीं: विपक्ष

विपक्ष के विधायक डीसी रंगख्वाल ने राज्य सरकार और प्रशासन पर निशाना साधा हुए कहा कि हमने खुद पता किया है वह परिवार काफी गरीब है, उसके पास बुनियादी सुविधाएं भी नहीं हैं। दुमबर नगर के चाइल्ड डेवलपमेंट प्रोजेक्ट अफसर एविड हुसैन ने खन्जय रियांग से एक दिन पहले मुलाकात की थी, लेकिन वे बच्चे को वापस उसके मां-बाप को दिलाने को लेकर कोई हल नहीं निकाल पाए थे।

Next Story
Top