Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मोसुल में इराकी वायु सेना ने गिराई 40 लाख चिट्ठियां

इराकी सेना आइएस आतंकियों को खदेड़ने के लिए अभियान चला रही है।

मोसुल में इराकी वायु सेना ने गिराई 40 लाख चिट्ठियां
वाशिंगटन. मोसुल में इराकी वायु सेना ने करीब 40 लाख पत्र गिराए हैं जिनमें मोसुल के निवासियों के लिए सहानुभूती और समर्थन जताया गया है। इस शहर से आइएस आतंकियों को खदेड़ने के लिए इराकी सेना 17 अक्टूबर से अभियान चला रही है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी नीत गठबंधन के अनुसार मोसुल में इराकी सेना ने 40 लाख खत गिराए हैं। इन पत्रों में मोसुल के निवासियों के साथ "सहानुभूति और समर्थन" जताया गया है। इराकी सेना 17 अक्टूबर से मोसुल से आइएस आतंकियों को खदेड़ने के लिए अभियान चला रही है। अभियान को कुर्द, शिया, कबायली लड़ाकों और अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन का भी समर्थन हासिल है।

गठबंधन सेना ने गुरुवार को बताया कि सैन्य अभियान शुरू होने के बाद इंस्टीट्यूट फॉर वार एंड पीस रिपोटिर्ग ने "लेटर्स टू मोसुल" नाम के अभियान की शुरुआत की थी। इसी अभियान के तहत मोसुल के निवासियों के लिए सहानुभूति और समर्थन से भरे पत्र इराक के लोगों ने लिखे थे। इस पहल से इराक के लोगों ने दो वर्षों से अधिक समय से आइएस के कब्जे वाले शहर मोसुल के निवासियों को आश्र्वस्त किया है कि उन्हें भूलाया नहीं गया है। देश के अन्य हिस्सों के लोग उनके साथ खड़े हैं। वे आइएस के हारने के बाद उनका फिर से स्वागत करने का इंतजार कर रहे हैं।

गठबंधन के अनुसार एक पत्र में लिखा था, "हमारे प्रिय लोगों...हम हर चीज में आपके साथ हैं। हमारा दिल आपके साथ है। हमें एहसास है कि आपको ठंड, भूख और संघर्ष भरे दिनों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन, आपको धैर्य रखना चाहिए और यह सोचना चाहिए कि जीत करीब है।"
गौरतलब है कि मोसुल इराक में आइएस का सबसे बड़ा गढ़ है। यहां से आतंकियों को खदेड़ने के अभियान में करीब एक लाख सैनिक शामिल हैं। सेना पूर्वी मोसुल में दाखिल भी हो चुकी है। सैन्य अभियान के बाद पलायन में तेजी आने के बावजूद अभी भी शहर में करीब 10 लाख लोगों के फंसे होने की आशंका है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top