Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस मुठभेड़ में मारा गया मेघालय का मोस्ट वांटेड उग्रवादी

मेघालय के पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में आज सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में अतिवांछित उग्रवादी एवं प्रतिबंधित गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) का स्वयंभू प्रमुख मारा गया।

पुलिस मुठभेड़ में मारा गया मेघालय का मोस्ट वांटेड उग्रवादी

मेघालय के पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में आज सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में अतिवांछित उग्रवादी एवं प्रतिबंधित गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) का स्वयंभू प्रमुख मारा गया।

ये भी पढ़ें- मेघालय: विधानसभा चुनाव से पहले उग्रवादी हमला, NCP कैंडिडेट की मौत

जीएनएलए प्रमुख सोहन डी शीरा के ऊपर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित था। इसी जिले में 18 फरवरी को एक देशी बम हमले में राकांपा उम्मीदवार जोनाथन एन संगमा मारे गये थे। जीएनएलए पर यह देशी बम हमला करने का संदेह है। संगमा की मौत के बाद दक्षिण एवं पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में उग्रवाद निरोधक अभियान तेज कर दिया गया।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि डोबू इलाके में कुछ जीएनएलए उग्रवादियों की संभावित मौजूदगी की खुफिया खबर मिलने के बाद उग्रवाद निरोधक बल को हरकत में आने को कहा गया है। आज ग्यारह बजे डोबू के समीप अचाकपेक गांव में मुठभेड़ हुई और सोहन मारा गया।
पुलिस उप महानिरीक्षक (पश्चिमी क्षेत्र) ओ पस्सी ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘मुठभेड़ में वह मारा गया। हमारी टीम उसके अंगरक्षकों का पता लगाने में जुटी है। '
पूर्वी गारो पर्वतीय जिले के उपायुक्त रामकुमार ने बताया कि इस उग्रवादी के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है तथा जरुरी औपचारिकताएं पूरी की जाएंगी।
मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने ट्वीट किया, ‘‘मैं मेघालय पुलिस की निर्भीक महिलाओं और पुरुषों को दिल से बधाई देता हूं जिन्होंने सोहन डी शीरा जैसे राज्य के दुश्मनों का सफाया करने में अथक प्रयास एवं संकल्पबद्धता दिखायी। '
इसी हफ्ते राज्य के पुलिस महानिदेशक एस बी सिंह ने कहा था कि संगमा की हत्या में जीएनएलए की संलिप्तता के बारे में भरोसेमंद सुराग हैं।
Next Story
Top