Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

यहां हर 8वीं महिला रेप की शिकार, दुनिया के सबसे विकसित देशों में है शुमार

पेरिस में काम करने वाले एक थिंक टैंक जीन जीरस फाउंडेशन के अध्ययन के अनुसार 43 फीसदी महिलाओं को जबरन यौन स्पर्श का शिकार होना पड़ता है।

यहां हर 8वीं महिला रेप की शिकार, दुनिया के सबसे विकसित देशों में है शुमार

फ्रांस में 12 फीसदी (करीब 40 लाख) महिलाओं को जीवन में एक बार बलात्कार का शिकार होना पड़ा है। ये बात एक सर्वे में सामने आई है। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पेरिस में काम करने वाले एक थिंक टैंक जीन जीरस फाउंडेशन के अध्ययन के अनुसार 43 फीसदी महिलाओं को जबरन यौन स्पर्श का शिकार होना पड़ता है।

अन्य देशों की तरह फ्रांस की महिलाओं ने भी हाल के कुछ महीनों में यौन अपराधों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। जिसके बाद सोशल मीडिया पर कई महिलाओं ने अपना अनुभव हैशटैग #Balancetonporc (rat on your pig) के साथ जाहिर किया।

यह भी पढ़ें- बचपन में ऐसी दिखती थीं श्रीदेवी, देखिए उनकी कुछ अनदेखी तस्वीरें

ये मुहिम उस समय शुरू हुई थी जब साल 2017 में अक्टूबर में हॉलीवुड फिल्में बनाने वाले हार्वे वीनस्टीन के खिलाफ रेप के आरोप लगे थे। 23 फरवरी को फ्रेंच में प्रकाशित, 2000 महिलाओं पर किए गए सर्वे की रिपोर्ट का उद्देश्य फ्रांस में यौन हिंसा और उत्पीड़न की सीमा का आकलन करना बताया गया है।

इस रिपोर्ट के अनुसार फ्रांस की 12% महिलाओं ने कहा कि उनका बलात्कार हुआ है। वहीं 58% महिलाओं ने कहा कि वे हैरान करने वाली डिमांड के निशाने पर रहीं। साथ ही इस सर्वे में 43 फीसदी महिलाओं ने कहा कि उनकी मर्जी के बिना उन्हें यौन स्पर्श का सामना करना पड़ा।

इस सर्वे में 50% महिलाओं ने यह भी बताया कि उन्हें सेक्सिस्ट कमेंट्स झेलनी पड़ी है। ऐसे अनुभव का सामना उन्हें कई बार करना पड़ा। इसके बाद ‘rat on your pig’ मुहिम के जरिए फ्रांस में राष्ट्रीय स्तर की बहस शुरू हुई।

यह भी पढ़ें- श्रीदेवी की मौत से चंद घंटे पहले की ये खास तस्वीरें और वीडियो, कर देंगी आपकी भी आंखें नम

बता दें कि पिछले महीने फ्रेंच एक्ट्रेस कैथरीन डेनेयूव उन 100 महिलाओं में से एक थीं जिन्होंने अब तक की मुहिम को लेकर लिखे गए एक खुले खत में साइन किए थे। जो कि नए तरीके के नैतिकतावाद और पुरुषों के द्वारा महिलाओं के कष्ट देने के प्रति आगाह करता है।

वहीं लैंगिक समानता के लिए फ्रांस की मंत्री मार्लेन शियाप्पा ने ‘balance ton porc’ और ‘Mee Too’ जैसी मुहिमों का बचाव किया है।

Next Story
Top