Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सफाई कर्मी बनने के लिए नाले में उतरे ग्रेजुएट और इंजीनियर्स

सैकड़ों की तादाद में छात्र नाले की सफाई में जुट गए।

सफाई कर्मी बनने के लिए नाले में उतरे ग्रेजुएट और इंजीनियर्स
मुरादाबाद. यूपी के मुरादाबाद में सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए ग्रेजुएट और इंजीनियर्स नालों में घुसकर सफाई करने पर मजबूर हो गए। मुरादाबाद नगर निगम में सफाई कर्मचारी की नौकरी के लिए आवेदन करने वाले नौजवानों का ऑन स्पॉट इम्तिहान लिया गया। इसके लिए उन्हें शहर के एक गंदे नाले के पास ले जाया गया और हाथ में कुदाल और फावड़ा देकर नाला साफ करने को कहा गया।
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में सफाई कर्मचारियों की भर्ती में कई चौंकाने वाली खबरें सामने आई हैं। लेकिन यह मामला थोड़ा बेढंगा है, जब मुरादाबाद नगर निगम में सफाई कर्मचारी की भर्ती के लिए बगैर किसी किसी सुरक्षा उपाय यानि प्रोटेक्टिव गार्ड के ही प्रतियोगियों को नाले की सफाई में लगा दिया गया। जिसके बाद सैकड़ों की तादाद में छात्र नाले की सफाई में जुट गए। इस दौरान कुछ नौजवान नाले के बाहर खड़े होकर कचरा निकालने लगे और कुछ नौजवान तो सफाई करने के लिए नाले में ही उतर गए।
दूसरी चौकाने वाली बात यह है कि इस परीक्षा में पीजी डिग्रीधारियों के साथ ही कई व्यावसायिक कोर्स कर चुके छात्र भी हिस्सा लेने पहुंचे थे। छात्रों का कहना है कि नौकरी के दूसरे विकल्प नहीं होने के कारण इस परीक्षा में हिस्सा लेना मजबूरी थी। हालांकि इस घटना के सुर्खियों में आने के बाद जांच के आदेश दे दिए गए।
वहीं ऐसा ही एक मामला बिहार के मुजफ्फरपुर का भी रहा था। जहां आर्मी में क्लर्क पद की भर्ती के लिए ली गई परीक्षा में सैंकड़ों युवाओं को सोमवार को अंडरवेयर में एग्ज़ाम देना पड़ा था। इस मामले पर बवाल मचने के बाद रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने सेना प्रमुख से इस मामले में जवाब मांगा था। परीक्षा में बैठने आए 1100 उम्मीदवारों को उस वक्त झटका लगा था जब एग्ज़ामिनेशन सेंटर पहुंचने पर उनसे कहा गया कि वे अपने कपड़े उतार कर रख दें। उनसे बनियान भी उतरवा ली गई थी। हालांकि सेना के सूत्रों ने जानकारी दी थी कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि इतने सारे लोगों की तलाशी का टाइम बचाया जा सके।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top