Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मूडीज ने भारत की रेटिंग घटाई, चीन के बाजार का असर नहीं

एजेंसी ने कहा, हमारे अनुमान के समक्ष एक प्रमुख जोखिम है सुधार प्रक्रिया का उल्लेखनीय रूप से धीमा पड़ना।

मूडीज ने भारत की रेटिंग घटाई, चीन के बाजार का असर नहीं

नई दिल्ली. साख निर्धारण एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने आगाह किया कि सुधार की धीमी रफ्तार से वृद्धि प्रभावित हो सकती है साथ ही सामान्य से कम बारिश के जोखिम को देखते हुए उसने भारत की वृद्धि दर का अनुमान पहले के 7.5 प्रतिशत से घटाकर करीब सात प्रतिशत कर दिया।

ये भी पढ़ें : स्वदेश लौटे पीएम मोदी, UAE भारत में कर सकता है 1000 अरब डॉलर निवेश

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने अपनी वर्ष 2015-16 की वृहद वैश्विक परिदृश्य रपट में कहा हमने मानसून के दौरान औसत से कम बारिश के मद्देनजर सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर का अनुमान घटाकर करीब सात प्रतिशत कर दिया हालांकि, मौसम की शुरूआत में जितनी कम बारिश की आशंका थी उतनी कम नहीं रही है। मूडीज ने कहा कि भारत की वृद्धि का परिदृश्य मानसून से जुड़े अल्पकालिक प्रभाव के आगे बेहतर रहने की उम्मीद है। रेटिंग एजेंसी ने 2016 के लिए वृद्धि का अनुमान 7.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा है।
अगले साल तेजी दर्ज करेगा भारत
मूडीज की सावरेन रेटिंग विश्लेषक अत्सी सेठ ने कहा, ' हम यह दोहरा रहे हैं कि सात प्रतिशत वृद्धि दर के साथ हमारा अनुमान है कि इस साल विशाल उभरते बाजारों में भारत सबसे तेजी से वृद्धि दर्ज करने वाला देश होगा और हमें उम्मीद है कि अगले साल वृद्धि में तेजी दर्ज होने की उम्मीद है।' सेठ ने कहा कि सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर तीन पैमानों पर निर्भर है पहला, ताजा वृहत-आर्थिक तथा बैंक ऋण वृद्धि का आंकड़ा जिससे पता चलता है कि चाहे धीमी गति से ही सही आर्थिक संकेत सकारात्मक दिशा में चल रहे हैं।
नीचे की स्लाइड्स में पढें, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर -
Next Story
Top