Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मानसून सत्रः अविश्वास प्रस्ताव पर पीएम ने दुहराई पुरानी बातें, हमारे पास विरोध करने के सिवा कोई चारा नहीं: जयदेव गल्ला

सोमवार को संसद मानसून सत्र शुरू होने से पहले ही विपक्षी नेताओं का गुस्सा साफ देखने को मिल रह है। अविश्वास प्रस्ताव के बहस के बाद प्रधानमंत्री मोदी के जवाब से खुश नहीं दिख रहे हैं।

मानसून सत्रः अविश्वास प्रस्ताव पर पीएम ने दुहराई पुरानी बातें, हमारे पास विरोध करने के सिवा कोई चारा नहीं: जयदेव गल्ला

सोमवार को संसद मानसून सत्र शुरू होने से पहले ही विपक्षी नेताओं का गुस्सा साफ देखने को मिल रह है। अविश्वास प्रस्ताव के बहस के बाद प्रधानमंत्री मोदी के जवाब से खुश नहीं दिख रहे हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाने वाली टीडीपी का कहना है कि पीएम ने हमारे किसी भी सवालों का जवाब नहीं दिया।

इसे भी पढ़ें-शिवसेना का बड़ा ऐलान, उद्धव ठाकरे बोले- पीएम मोदी के नहीं आम लोगों के सपनों के लिए लड़ रहा हूं

आगे पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने कहा कि हमनें प्रस्ताव को लेकर अहम बातें रखी लेकिन प्रधानमंत्री ने एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया। पीएम ने वही पुरानी बातों को दुहराया इसलिए अब हमारे पास विरोध करने के सिवा और कुछ नहीं है। बता दें कि अविश्वास प्रस्ताव को शुक्रवार को लोकसभा में पेश किया गया और बहस की गई। इस दौरान टीडीपी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा, स्पेशल पैकेज, आर्थिक मद से जुड़े सवालों को रखा था।

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलान के लिए टीडीपी सांसदों ने संसद भवन के सामने खड़े होकर विरोध प्रर्दशन कर रही है। इसके लिए उन्होंने सरकार के विरोध में नारा लगाया और साथ ही बीजेपी पर वादाखिलाफी तथा नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें-26 जुलाई को मनाया जाएगा करगिल दिवस, जानें ये 8 सीक्रेट बातें

टीडीपी के अलावा कांग्रेस नेताओं ने भी बेरोजगारी को लेकर सोमवार को मौजूदा सरकार को घेरा है। कांग्रेस सांसदों का कहना है कि बेरोजगारी देश को जकड़ रही लेकिन बीजेपी कोई ध्यान नहीं दे रही। इस सरकार ने बेरोजगारी बढाई है। सरकार युवाओं को रोजगार देने में पूरी तरह विफल दिख रही है।

इसके अलावा अरवल में मॉब लिंचिंग की ताजा घटना को लेकर अवसुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पहलु खां की तरह राजस्थान में दुखद घटना घटी। गाय के नाम पर इंसानियत को मारा जा रहा है। इसके लिए पुलिस भी मिली हुई है। 18 जुलाई को संसद मानसून सत्र शुरू होते ही विपक्षी दल मॉब लिंचिंग को लेकर सरकार को घेरना शुरू कर दिया है।

बता दें कि संसद मानसून सत्र 18 जुलाई से लेकर 11 अगस्त तक चलेगा। शुक्रवार को टीडीपी के नेतृत्व में अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था।

Next Story
Top