Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राहत की आहट: अंडमान पहुंचा मानसून, कहीं भारी बारिश तो कहीं सूखे के आसार, यहां पढ़ें मानसून की पूरी जानकारी

भीषण गर्मी से राहत की उम्मीद लगाए लोगों और खासकर किसानों के लिए अच्छी खबर है। इस बार मॉनसून समय से पहले दस्तक दे सकता है।

राहत की आहट: अंडमान पहुंचा मानसून, कहीं भारी बारिश तो कहीं सूखे के आसार, यहां पढ़ें मानसून की पूरी जानकारी

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून दक्षिण अंडमान सागर में पहुंच गया। अगले 3 दिनों में केरल पहुंचने की संभावना है। मानसून की यही रफ्तार रही तो 2 हफ्ते में छत्तीसगढ़ में झमाझम बारिश हाे सकती है। इसके अलावा पूर्वानुमान में इस साल मुंबई, ओडिशा, बंगाल, यूपी व मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ की आशंका जताई गई है।

भीषण गर्मी से राहत की उम्मीद लगाए लोगों और खासकर किसानों के लिए अच्छी खबर है। अगले महीने की शुरुआत में दक्षिण भारत के कई हिस्सों में झमाझम बारिश हो सकती है। हालांकि मौसम का पूर्वानुमान लगानेवाली स्वतंत्र एजेंसियों का कहना है कि मजबूत शुरुआत के बाद देश के कई हिस्सों में बाढ़ और सूखा पड़ने की आशंका बढ़ गई है। खासतौर से खेती के लिहाज से महत्वपूर्ण जुलाई और अगस्त के महीने में इसका खतरा ज्यादा है।

इसे भी पढ़ें- 'मोदी सरकार के 4 साल' पूरे होने पर राहुल ने की ग्रेडिंग, नौकरी में 'F' और नारे में 'A+' ग्रेड

प्राइवेट फाॅर कास्टर ने भले ही सतर्क रहने को कहा हो पर आईएमडी के निदेशक (लॉन्ग रेज फॉरकास्ट) डीएस पई का कहना है कि मॉनसूनी बारिश देश के अलग-अलग हिस्सों में कैसी होगी, इसकी भविष्यवाणी करना अभी जल्दबाजी होगी। अमेरिका स्थित कमर्शल फॉरकास्टर ने कहा है कि मिड-सीजन बारिश अनियमित होगी।

अासमान मॉनसून से सूखा और बाढ़ का खतरा रहेगा। एजेंसी के प्रमुख वैश्विक मौसम विज्ञानी जेसन निकॉलस ने कहा, हम उम्मीद कर रहे हैं कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून जुलाई और अगस्त के महीने में ज्यादा अस्थिर होगा। जेसन ने भविष्यवाणी की है कि ओडिशा, पश्चिम बंगाल और यूपी व मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश और बाढ़ भी आ सकती है।

Next Story
Top