Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मोदी ने दिया ‘लैब से लैंड’ तक का नया मंत्र, तकनीक से कराएंगे खेती

प्रधानमंत्री ने कृषि वैज्ञानिकों को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए पुरस्कृत भी किया।

मोदी ने दिया ‘लैब से लैंड’ तक का नया मंत्र, तकनीक से कराएंगे खेती
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि वैज्ञानिकों से फसल उत्पादकता को बढ़ाने की दिशा में वैज्ञानिक प्रौद्योगिकी को खेत-खलियानों तक पहुंचाने का आह्वान करते हुए कहा कि सरकार की कृषि नीति भी किसानों की आय बढ़ाने पर केंद्रित होनी चाहिए। उन्होंने लैब से लैंड तक नया नारा भी दिया।
प्रधानमंत्री ने कृषि वैज्ञानिकों को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए पुरस्कृत भी किया। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के 86वें स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह में मोदी ने कहा कि वे मानते हैं कि यदि किसानों के लिए पर्याप्त आय की व्यवस्था नहीं हुई तो इस क्षेत्र का लक्ष्य प्राप्त करना मुश्किल होगा। इसलिए हमारी नीतियां और पहल किसानों की आय बढ़ाने पर केंद्रित होनी चाहिए।
उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों से आह्वान किया कि वे उन्हें वैज्ञानिक प्रौद्योगिकी को कृषि क्षेत्र में खेत तक ले जाने की जरूरत है, ताकि कृषि उत्पादन बढ़ सके और खाद्यान्न की बढ़ती मांग पूरी हो सके। प्रधानमंत्री ने उत्पादन की गुणवत्ता से समझौता किए बगैर फसलों की पैदावार तेजी से बढ़ाने पर बल देते हुए कहा कि हमारे किसान पूरे देश और दुनिया को खाद्यान्न मुहैया कराने में सर्मथ हैं और दूसरे कृषि हमारे किसानों को पर्याप्त आय उपलब्ध करा सकती है जैसी दो चीजों को साबित करने की जरूरत है।
प्रधानमंत्री ने हरित और श्वेत क्रांति की तरह नील क्रांति का भी यह कहते हुए आह्वान किया कि मत्स्य पालन के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय व्यापार की बड़ी संभावना है। उन्होंने वैज्ञानिकों से यह भी कहा कि वे चीन की तरह औषधीय पौधों पर ध्यान केंद्रित करें। पीएम ने कृषि कालेज को अपने रेडियो स्टेशन स्थापित करने का भी सुझाव दिया ताकि किसानों को विस्तारित सेवाएं प्रदान की जा सकें।
नीचे की स्‍लाइड्स में पढ़िए, मोदी ने और क्या कहां इस समाहरोह -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top